यात्रा

रत्नागिरीअरब सागर तट पर ऐतिहासिक पर्यटक स्थल

महाराष्ट्र के दक्षिण पश्चिम भाग में अरब सागर तट पर रत्नागिरी जिले का जिला मुख्यालय है। महाराष्ट्र राज्य का एक जिला है। रत्नागिरी जिला सबसे खूबसूरत समुद्र तटों, ऐतिहासिक स्मारकों और शांत मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। रत्नागिरी का इतिहास और उसकी प्राचीनता उसके अनेक पर्यटक स्थलों में सहज ही दिखाई देती है। रत्नागिरी 1818 में अंग्रेजों के अधीन होने से पहले 1731 ईस्वी तक सतारा के राजा के अधिकार में था। रत्नागिरी के आसपास के पवस बीच, गणेशघुले बीच, भाटे बीच और गणपतिपुले अन्य प्रसिद्ध समुद्र तट हैं।

महान स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य तिलक का जन्मस्थान भी है। रत्नागिरी में अली संग्रहालय लोकमान्य तिलक का पूर्वज घर है। और घर में महान स्वतंत्रता सेनानी की तस्वीरें हैं। इसके अलावा यह स्थल म्यानमार के अंतिम राजा की थिबू और विनायक दामोदर सावरकर का कैद स्थल भी रहा है।

रत्नागिरी कैसे पहुंचे?:-
सड़क द्वारा रत्नागिरी कैसे पहुंचे :- रत्नागिरी पहुंचने के लिए सड़क मार्ग एक बहुत ही सामान्य और सुविधाजनक मार्ग है। यह मार्ग मुंबई गोवा राष्ट्रीय राज्य मार्ग में हतखंबा गांव से रत्नागिरी से केवल 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

ट्रेन द्वारा रत्नागिरी कैसे पहुंचे:- रत्नागिरी से सर्वाधिक निकटतम रेलवे स्टेशन कोंकण रेलवे स्टेशन है। यह रेलवे स्टेशन मुंबई, गोवा, केरला के रास्ते से होकर जाता है। पर्यटक कोंकण रेलवे स्टेशन से उतरकर रत्नागिरी के लिए टैक्सी ले सकते हैं।

फ्लाइट द्वारा रत्नागिरी कैसे पहुंचे:- रत्नागिरी से सबसे निकटतम हवाई अड्डा लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक रत्नागिरी एयरपोर्ट है। यह रत्नागिरी से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पर्यटक अपनी सुविधा अनुसार टैक्सी ले सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button