राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

सरघाट मंदिर बस्ती जनपद में मां दुर्गा का पवित्र सिद्धपीठ स्थल

उत्तर प्रदेश के बस्ती जनपद में स्थित सरघाट मंदिर क्षेत्र की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रमाण है। जनपद के रुधौली तहसील क्षेत्र के मुड़ियार रघुनाथपुर में कुषाण वंश के शासनकाल से मां दुर्गा के पिंडी स्वरुप की पूजा-अर्चना होती है। इस उल्लेखनीय मंदिर के शांत वातावरण और गहन आध्यात्मिक महत्व के कारण दूर-दूर से तीर्थयात्री और जिज्ञासु यात्री आकर्षित होते हैं।

कुषाण वंश के दौरान निर्मित सिद्धपीठ मां सरघाट मंदिर अपनी भव्यता को बरकरार रखते हुए, समय की कसौटी पर खरा उतरा है। यह पौराणिक मंदिर क्षेत्र के इतिहास में हुए समृद्ध सांस्कृतिक आदान-प्रदान और आत्मसात को दर्शाता है। पुरातत्व विभाग द्वारा कराई गई खुदाई में मंदिर के आस-पास कुषाण काल की ईंटों से निर्मित एक मीटर चौड़ी दीवार, एक कुआँ और बर्तन भी मिले थे।

सरघाट मंदिर हिंदू धर्म के अनुयायियों के लिए अत्यधिक धार्मिक महत्व रखता है। भक्त शुभ अवसरों, विशेष रूप से नवरात्रि के अवसर पर मंदिर में प्रार्थना करने और दिव्य आशीर्वाद पाने के लिए आते हैं। हरियाली और नदी से घिरा मंदिर का शांत वातावरण आगंतुकों के आध्यात्मिक अनुभव को बढ़ाता है।

सरघाट मंदिर के ऐतिहासिक महत्व को पहचानते हुए, स्थानीय अधिकारियों और विरासत संरक्षण संगठनों ने इस वास्तुशिल्प रत्न को संरक्षित और पुनर्स्थापित करने की पहल की है। चल रहे प्रयासों में मंदिर की संरचनात्मक अखंडता की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए समय-समय पर रखरखाव, दस्तावेज़ीकरण और जागरूकता अभियान शामिल हैं। इन प्रयासों का उद्देश्य इस सांस्कृतिक खजाने को भावी पीढ़ियों के लिए सराहने और संजोने के लिए सुरक्षित रखना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button