पृथ्वी की कक्षा में भारत और रूस का सैटेलाइट काफी नजदीक आ गया

Medhaj News 28 Nov 20 , 18:58:46 Science & Technology Viewed : 1223 Times
Earth_from_space.png

पृथ्वी की कक्षा में भारत का रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट CARTOSAT-2F, रूस का अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट Kanopus-V के काफी नजदीक आ गया है। दोनों देशों के अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन नजदीक से इसकी निगरानी कर रहे हैं, लेकिन दोनों के माप की दूरी अलग-अलग आ रही है। शुक्रवार को रूस के अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी रॉसकॉसमॉस ने कहा कि रूस के रॉकेट (TsNIIMash) के मुताबिक, 27 नवंबर 2020 को 700 किलोग्राम का CARTOSAT-2F सैटेलाइट खतरनाक तरीके से Kanopus-V के नजदीक आ गया था। इस रॉकेट की गणना के अनुसार, रूस और भारत के सैटेलाइट के बीच न्यूनतम दूरी 224 मीटर है।रॉसकॉसमॉस का कहना है कि दोनों स्पेसक्राफ्ट को धरती की रिमोट सेंसिंग के लिए डिजाइन किया गया है।

हालांकि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो के प्रमुख के. सिवन का कहना है कि हम चार दिन से इस सैटेलाइट की निगरानी कर रहे हैं और यह रूस की सैटेलाइट से 420 मीटर की दूरी पर है। जब इसकी दूरी 150 मीटर हो जाएगी तब इसके निपटने के लिए योजना बनाई जाएगी। ऐसे मामलों में सामान्य तौर पर दोनों देशों आपस में बातचीत करके इसका हल ढूढेंगे। सिवान ने कहा कि हाल ही में स्पेन के एक सैटेलाइट के साथ यह समस्या आई थी लेकिन इसे सुलझा लिया गया। ऐसी बातों को सामान्य तौर पर सार्वजनिक नहीं किया जाता है। 


    1
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      28-11-2020 21:02:57

    • Ok

      Commented by :Aslam
      28-11-2020 21:00:54

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story