SEBI मार्च 2024 तक व्यापारों के एक घंटे के सेटलमेंट को लागू कर सकता है, अक्टूबर 2024 तक तुरंत सेटलमेंट

भारतीय मुद्रा और विनिमय बोर्ड (सेबी) के स्रोतों ने मंगलवार को भारतीय स्टॉक मार्केट में व्यापारों के सेटलमेंट के प्रक्रियान्तरण को बदलने की योजना खोल दी, जिसका उद्देश्य व्यापार समझौतों के लिए लिए जाने वाले समय को कम करना है। स्रोतों के अनुसार, सेबी व्यापारों के सेटलमेंट को एक घंटे का कर्यान्वयन करने के लिए तैयार है। इस कदम को मार्च 2024 तक प्रभावी बनाने की योजना है, जिससे स्वायत्तर व्यापार के बाद मात्र एक घंटे के समय में निवेशकों को उनके निधियों और सुरक्षा का उपयोग करने की सुगमता मिलेगी।

सेबी एक घंटे के सेटलमेंट से रुकने वाला नहीं है। इस परिस्थितिक संबंधित प्राधिकृत अधिकारी भी व्यापारों के तुरंत सेटलमेंट की प्राप्ति का लक्ष्य रख रहे हैं, जिसके प्रभावी क्रियान्वयन की योजना अक्टूबर 2024 को है।

यदि इसमें सफलता मिलती है, तो यह भारतीय स्टॉक मार्केट में कुशलता और पारदर्शिता में एक महत्वपूर्ण कदम होगा, व्यापारी और निवेशकों को उनके संपत्ति का तुरंत पहुँच देने का।

प्राथमिक मार्केट सौदों को तेजी से पूरा करने के साथ ही, सेबी सुधारने का काम कर रहा है। स्रोतों का सुझाव है कि सेबी सेकेंडरी मार्केट के लिए एक एएसबीए (एप्लीकेशन सपोर्टेड बाय ब्लॉक्ड अमाउंट) मॉडल को लागू करने की योजना बना रहा है, जो कि आईपीओज़ में प्रयुक्त प्रक्रिया के समान है। इस परिवर्तन को जनवरी 2024 के रूप में प्रारंभ किया जाने की उम्मीद है, जिससे सेकेंडरी मार्केट में निवेश सुरक्षित और कुशल होगा।

इन प्रस्तावित परिवर्तनों के साथ-साथ, भारतीय स्टॉक मार्केट परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन की ओर बढ़ रहा है, जिसमें सेटलमेंट के समय को कम करने और निवेशक सुगमता को बढ़ावा देने का महत्वपूर्ण माध्यम है।

हालांकि, निवेशकों को ध्यान में रखना चाहिए कि ये योजनाएँ सेबी स्रोतों की जानकारी पर आधारित हैं और नियामक स्वीकृतियों और बाजार की तैयारी के अधीन हैं। निवेशकों और बाजार प्रतिभागियों को इस परिवर्तन की प्रारंभिक घोषणाओं और सेबी के निर्देशों के लिए बने रहने की सलाह दी जाती है, जैसे ही ये परिवर्तन समय के साथ क्रियान्वित होते हैं।

Read more…यस बैंक के शेयरों का आखिरकार तीन सत्रों से आसमान में उछलने का कारण

Exit mobile version