शेयर बाजारव्यापार और अर्थव्यवस्था

भारतमार्ट इंटरमेश की शेयरें उछाल कर 8% तक पहुंचीं!

भारतीय शेयर बाजार में आज एक बड़ी खबर राज कर रही है। भारतमार्ट इंटरमेश की शेयरें दिन ब दिन उछाल रही हैं और शेयरधारकों को खुशियां मनाने का मौका मिल रहा है। इसके पीछे का कारण क्या है, और इसका शेयर बाजार पर क्या प्रभाव पड़ सकता है, इस पर हम चर्चा करेंगे।

इंडियामार्ट इंटरमेश एक विश्वसनीय और प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक व्यापार वेबसाइट है, जिसमें व्यापारियों को उच्च-गुणवत्ता वाले उत्पादों और सेवाओं को बेचने और खरीदने का मौका मिलता है। यह भारतीय व्यापारियों को दुनिया भर में उच्चतम गुणवत्ता वाले खुदरा उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। यह विशेष रूप से स्मॉल और मध्यम आकार के व्यापारियों के लिए उपयुक्त है जो अपने उत्पादों को नेशनल और इंटरनेशनल बाजारों में प्रदर्शित करना चाहते हैं।

जुन महीने की पहली तिमाही में 78% की उछाल

जून महीने की पहली तिमाही में इंडियामार्ट इंटरमेश ने दिखाई बेहतरीन प्रदर्शन की बेहद सकारात्मक चिह्नी। इस दौरान कंपनी ने 78% की उछाल देखी, जिससे उनके शेयर मूल्य 3,128.6 रुपये पर पहुंच गए। यह तेजी आम शेयरधारकों के लिए एक आनंददायक समाचार है, जिन्होंने उनके निवेश को मालामाल किया है।

500 करोड़ रुपये की वापसी योजना

कंपनी ने एक सौभाग्य योजना का भी ऐलान किया है, जिसमें उन्होंने 12.5 लाख इक्विटी शेयरों के लिए वापसी योजना जारी की है। इस योजना के अनुसार कंपनी 500 करोड़ रुपये तक के राशि के लिए शेयर खरीदने का प्रस्ताव स्वीकार कर चुकी है। यह योजना शेयरधारकों के लिए एक सौभाग्य है, क्योंकि इससे उन्हें कंपनी में निवेश करने का और भी मौका मिलता है।

इंडियामार्ट इंटरमेश के Q1 परिणामों के बाद, घरेलू ब्रोकरेज फर्म जेएम फाइनेंशियल ने उन्हें एक नई रेटिंग और रीवाइज़्ड टारगेट प्राइस के साथ ‘खरीद’ की सिफारिश दोहराई है। जेएम फाइनेंशियल के एनालिस्ट्स ने इंडियामार्ट इंटरमेश के लिए नए टारगेट प्राइस को 3,300 रुपये रखा है, जो कि पहले 3,000 रुपये था। उन्होंने इसका अर्थात् अपनी रेटिंग बढ़ाने के पीछे उनके आर्थिक प्रदर्शन को देखते हुए यह निर्धारित किया है। उन्होंने कहा है, “हम अनुमान लगाते हैं कि FY23-26E में 22%/27%/24% रिवेन्यू/ईबीटीडीए/पैट कैग्र बढ़ सकते हैं। हम कंपनी को जबरदस्त कमाई विश्वास के साथ खरीदने के लिए बाजार को उत्साहित करते हैं। हम भी उम्मीद करते हैं कि कंपनी अतिरिक्त नकदी को बैक रूट से वापस करने की योजना बाजार को प्रसन्न करेगी।”

Read more… बजारी मानकपूर्ति बढ़ी, लेकिन सरकारी बैंकों के शेयर मूल्य नहीं पहुंचे रिकॉर्ड स्तर पर: विश्लेषक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button