राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य एक आदर्श प्राकृतिक स्थल

सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जनपद में स्थित है। यह अभ्यारण्य उत्तरी तरफ नेपाल के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करता है और पूर्वी सीमा पर बिहार का वाल्मिकी टाइगर रिजर्व है। इसे जून 1987 में वन्यजीव अभ्यारण्य के रूप में घोषित किया गया था।

अभ्यारण्य का इतिहास और प्रबंधन

पहले सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य गोरखपुर वन प्रभाग का हिस्सा था। 1964 में गोरखपुर वन प्रभाग को उत्तरी और दक्षिणी गोरखपुर वन प्रभागों में विभाजित किया गया, जिसे बाद में 1965 में अमान्य कर दिया गया। 1978 में प्रभाग को उत्तरी और दक्षिणी गोरखपुर में विभाजित किया गया। 1987 में यह उत्तरी गोरखपुर क्षेत्रीय वन प्रभाग अभ्यारण्य के रूप में नामित किया गया।

स्थान और पर्यावरण

सोहागी बरवा अभ्यारण्य नेपाल की अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब स्थित है। यह समुद्र तल से औसतन 100 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। अभ्यारण्य क्षेत्र की उचित पारिस्थितिक, पुष्प, जीव-जंतु, प्राकृतिक और भूवैज्ञानिक उपस्थिति के कारण वन्य जीवन और पारिस्थितिकी की रक्षा और विकास होता है।

जैव विविधता

सोहागीबरवा अभ्यारण्य में विविधता से भरपूर वन्य जीव पाए जाते हैं। यहाँ प्रमुख जानवरों में तेंदुआ, बाघ, जंगली बिल्ली, छोटा भारतीय सिवेट, लंगूर, हिरण आदि शामिल हैं। अभ्यारण्य में ब्राहिमिनी डक, कॉमन टील, लिटिल कॉर्मोरेंट, स्नेक बर्ड जैसे अनेक पक्षी प्रजातियाँ पाई जाती हैं।

पर्यटन और संरक्षण

सोहागीबरवा अभ्यारण्य अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पर्यटक जंगल सफारी, पक्षी दर्शन, और वन्यजीव गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं। इसके प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा और संरक्षण महत्वपूर्ण है ताकि आने वाली पीढ़ियाँ भी इसका आनंद उठा सकें।

निष्कर्ष

सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य उत्तर प्रदेश की धरोहर है, जो वन्य जीवों के संरक्षण और प्राकृतिक सौंदर्य की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यहाँ की विविधता और प्राकृतिकता को संरक्षित रखने के लिए हम सभी का सहयोग आवश्यक है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

1. सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य कहाँ स्थित है?

सोहागी बरवा वन्य जीव अभ्यारण्य उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में स्थित है।

2. सोहागी बरवा को कब वन्यजीव अभ्यारण्य के रूप में घोषित किया गया?

जून 1987 में सोहागी बरवा को वन्यजीव अभ्यारण्य के रूप में घोषित किया गया था।

3. अभ्यारण्य में कौनकौन से प्रमुख जानवर पाए जाते हैं?

यहाँ प्रमुख जानवरों में तेंदुआ, बाघ, जंगली बिल्ली, छोटा भारतीय सिवेट, लंगूर, हिरण आदि शामिल हैं।

4. अभ्यारण्य में किस प्रकार की पर्यटन गतिविधियाँ होती हैं?

पर्यटक यहाँ जंगल सफारी, पक्षी दर्शन, और वन्यजीव गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।

read more…हिमाचल प्रदेश का छोटा सा हिल स्टेशन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button