कविता - *गृहिणी* 

Medhaj News 21 Jul 20 , 12:38:37 Special Story Viewed : 3857 Times
save.jpg

दोस्तों लॉकडाउन में जो सबसे ज्यादा बिजी हुई 'गृहिणी' उन पर कुछ पंक्तियां पेश कर रहा हूं आशा करता हूं आप लोग को पसंद आएगी अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजिएगा कैसा यह संकट आया है, कैसी यह विपदा आई है। कैसा यह संकट आया है, 

कैसी यह विपदा आई है,

गृहिणी के सर पर मानो,

कहर बनकर छाई है। 

रखती है सबका ख्याल, 

करती है सब की देखभाल। 


अब तो झाड़ू पोछा और बर्तन,

मांजने की भी नौबत आई है। 

छोले भटूरे, पाव भाजी, पिज़्ज़ा, 

बर्गर और भी क्या क्या बना रही है।
 

पसीने में है तरबतर, 

फिर भी हर गृहणी मुस्कुरा रही है। 

सब कुछ है बंद, सब बैठे हैं घर मगर, 

गृहणी को तो दुगने काम की,


चिंता खा रही है। 

पिता के घर राज करने वाली बेटी,

ससुराल में सब कुछ निभा रही है। 

कामकाजी महिलाओं का है और भी बुरा हाल,

लैपटॉप के आगे बैठ सब्जी काट रही है।
 

एग्जीक्यूटिव बन लैपटॉप पर देती आर्डर,

बाद में मेड बन घर का काम भी निपटा रही है। 

दोनों ड्यूटी बखूबी निभा रही है,

बच्चों के लिए गुरु बन जाती है, 

पति के लिए प्रेमिका बन जाती है। 


तो सास-ससुर के लिए सेविका भी बन जाती है,

पर खुद के लिए कुछ नहीं कर पाती है। 

मकान को घर बनाती है, 

सारा जीवन इस पर कुर्बान कर देती है। 


ये गृहणी ही है जो घर को स्वर्ग बनाती है, 

ये गृहिणी ही है जो घर को स्वर्ग बनाती है। 



       ----स्वरचित----        

      ललित खंडेलवाल



 


    32
    1

    Comments

    • Wow very nice

      Commented by :Kunal chandra
      22-07-2020 19:32:26

    • Nice

      Commented by :Nidhi Azad
      21-07-2020 21:21:38

    • Nice line

      Commented by :Ajay Kumar Azad
      21-07-2020 21:19:45

    • good

      Commented by :Sushil Kumar Gautam
      21-07-2020 17:52:43

    • Good

      Commented by :Er.Nagendra kumar
      21-07-2020 17:49:20

    • Nice

      Commented by :Ajay Kumar
      21-07-2020 17:46:24

    • Nice line

      Commented by :BAL GANGADHAR TILAK
      21-07-2020 17:33:15

    • Nice

      Commented by :Amit Kumar Pandey
      21-07-2020 15:42:13

    • Nice line

      Commented by :Mazhar
      21-07-2020 15:09:25

    • Nice poem

      Commented by :Ajeet singh
      21-07-2020 14:53:42

    • Nice poem

      Commented by :Rakesh kumar
      21-07-2020 14:33:32

    • Gud

      Commented by :Harendra Singh
      21-07-2020 13:34:09

    • Nice poem

      Commented by :Rinku Ansari
      21-07-2020 13:11:06

    • NICE

      Commented by :AJAY
      21-07-2020 12:51:28

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story