ख्वाब सुनहरा सा

Medhaj News 31 Aug 20 , 11:07:31 Special Story Viewed : 6369 Times
1_Poem.PNG

मेरे यार-मेरे दिलबर, ये बात जरा बतला।

तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?



क्योंकि तू मिलता है तब ही,

जब होता नींद का है, पहरा।

जो सोचू तुझे छू लू,

तू गायब हो जाता, जुगनू सा।



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर, ये बात जरा बतला।



तू पास नहीं है मेरे, 

पर न दूर ही, तू लगता।

मैं जितना तुझे सोचूँ,

तू लगे, राज कोई गहरा। 
 



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर, मेरी उलझन तो सुलझा। 



तू मेरी मंजिल है,

या है बस एक रस्ता?

मिलना भी होगा अपना,

या बस है, चलते ही जाना?



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर; आखिर, तेरे दिल में है क्या?



मैं भी तेरी चाहत हूँ, या

बस एक पड़ाव हूँ, जीवन का?

जो बीत जायेगा एक दिन,

बस एक लम्हें सा।



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर, ये बता-तू मेरा है क्या?



मेरा दोस्त है? प्रेमी है? या

बस कोई साथी है, क्षण भर का?

कोई शुभचिंतक है, या दुश्मन

या ये साथ है, जीवन भर का?



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर, ये दिल की हलचल है क्या?



अजनबी होकर भी,

क्यों लगता तू अपना सा?

जब साथ तू मेरे होता,

तो हर पल लगे, उत्सव सा।



तू कोई हकीकत है, या है ख्वाब सुनहरा सा?

मेरे यार-मेरे दिलबर, आके दिल में बस जा।



मैं तुझमें खुद को जी लूँं,

तू भी मुझमें रम जा;

हम साथ रहे हरदम, 

ये रिश्ता, और भी हो गहरा।



न ये ख्वाब मेरा टूटे, न हटे नींद का ये पहरा।

मेरे यार-मेरे दिलबर; तू साथ रहे मेरे, बनके हमनवाँ मेरा।



****

(Copyright @भावना मौर्य)

****


    41
    0

    Comments

    • Gsm Security Price 本物と同じディオールネックレスコピー

      Commented by :?????????????????
      16-01-2021 03:08:18

    • ゼニス時計コピー国内発送 China High Power Charging

      Commented by :High Power Charging Supplier
      15-01-2021 03:06:47

    • Ring ボッテガヴェネタベルトブラントコピー代引き

      Commented by :???????????????
      14-01-2021 17:16:42

    • Lemon Cup Metal Gym Jug IWC時計

      Commented by :IW325504
      14-01-2021 12:31:59

    • Aap bhaut aacha likhti h

      Commented by :Anshul Verma
      08-09-2020 21:41:26

    • Great lines

      Commented by :Mani Shankar
      01-09-2020 21:42:24

    • Very nice

      Commented by :Kunal chandra
      01-09-2020 11:29:29

    • Very Nice

      Commented by :BHUPENDRA MAHAYACH
      31-08-2020 23:15:46

    • Superb

      Commented by :Santu Kumar singh
      31-08-2020 23:10:12

    • Nice poem

      Commented by :Faish Uddin
      31-08-2020 20:17:10

    • Very Nice!!!

      Commented by :Siraj
      31-08-2020 17:26:09

    • Nice Poem

      Commented by :SHRINIVAS
      31-08-2020 17:11:59

    • NYC poem Di ✌️✌️✌️✌️

      Commented by :Brijendra
      31-08-2020 16:41:08

    • Very nice poem....

      Commented by :Vartika Mishra
      31-08-2020 16:23:50

    • Very Nice Poem...!

      Commented by :Pawan Tiwari
      31-08-2020 16:18:24

    • Nice. Lines...

      Commented by :Namit
      31-08-2020 15:32:26

    • Very nice poem

      Commented by :Brijesh Patel
      31-08-2020 15:19:29

    • Nice lines.....

      Commented by :Rajeev Kumar
      31-08-2020 15:18:44

    • Nice.....

      Commented by :Amir
      31-08-2020 15:16:52

    • nice

      Commented by :amit maan
      31-08-2020 15:12:12

    • Very nice poem.....

      Commented by :Ajeet Singh
      31-08-2020 15:07:12

    • Very nice poem....

      Commented by :Vartika Mishra
      31-08-2020 13:50:52

    • Very Nice Poem

      Commented by :Markandeshwar Panday Hazaribagh
      31-08-2020 12:35:05

    • Very nice line

      Commented by :Pintoo kumar
      31-08-2020 11:39:26

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story