कविता - अपना शहर....... (एक प्रयास)

Medhaj News 1 Aug 20 , 18:04:46 Special Story Viewed : 624 Times
apna.png

मेरी पिछली कविता पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें---->
1) धूप में पथिक...​
2) आओ फिर...
3) झुग्गियां...
4) पत्थर दिल...
5) हँसने दो .....
6) बया...
7) सावन की तीज....​


बहुत दिनों बाद 

घूम कर आई

अपने शहर में।

मिल आई

गली महोल्ले 

दालान झरोखों से

अपने शहर में।


घंटों तलाशे

गम यादें

बचपन की शरारतें

यौवन का अल्हड़पन

अपने शहर में।

कुछ था ,वहां

बुला रहा था पास

शोर में भी ,दे रहा आवाज

अपने शहर में।


पुराने मकान के

चौबारे में

धीमे से थामा था

किसी ने मेरा हाथ।

मैंने थीं नजरें घुमाई

सूरत कोई 

नजर ना आई।

अपने शहर में।


फूल पत्ते ,हवा पानी

पूछ रहे थे

क्या चाहती अब यहां?

मन ठिठका 

अंदर से बोला

छोड़ गई  पीछे जो

बरसों पहले

यादें आहटें अदब

बचपन रिश्ते नाम

तलाशने आई हूॅ

अपने शहर में।


जहाॅ मोहब्बत  झाॅकती

साथ को रोती

हर आंख थी।

बन गए, हम

 ब स,परछाई  वहां

 अपने शहर में।



---डा.बंदना जैन(कोटा,राजस्थान)----



मेरी पिछली कविता पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें----> गुनगुनाती धुप और परिंदे......​


    24
    0

    Comments

    • A poem which everyone can identify with, very nice and beautifully worded

      Commented by :Bharti joshi
      02-08-2020 15:01:04

    • Nice poem

      Commented by :Amit Kumar
      01-08-2020 21:52:30

    • Nice........

      Commented by :Deependra Yadav
      01-08-2020 21:39:02

    • Nice poem

      Commented by :Santu Kumar Singh
      01-08-2020 21:09:20

    • Nice

      Commented by :AJEET Kumar
      01-08-2020 20:53:47

    • Very Nice Poem

      Commented by :Roshan Kumar
      01-08-2020 20:48:35

    • Nice

      Commented by :Ashish kumar nainital
      01-08-2020 20:09:46

    • Nice

      Commented by :Nidhi Azad
      01-08-2020 19:59:50

    • Nice

      Commented by :Ajay Kumar Azad
      01-08-2020 19:48:36

    • Nice

      Commented by :Md Nazir
      01-08-2020 19:43:08

    • Very nice

      Commented by :Ravi Ranjan kumar
      01-08-2020 19:31:09

    • Nice

      Commented by :Aditya Yadav
      01-08-2020 18:52:49

    • Very Nice

      Commented by :BHUPENDRA MAHAYACH
      01-08-2020 18:42:50

    • Nice

      Commented by :LAL KRISHNA LAL
      01-08-2020 18:38:47

    • Nice poem

      Commented by :Rinku Ansari
      01-08-2020 18:36:32

    • Nice

      Commented by :Harendra Singh
      01-08-2020 18:31:36

    • Very nice poem

      Commented by :Bikram
      01-08-2020 18:30:55

    • Nice line

      Commented by :Mazhar
      01-08-2020 18:26:38

    • Good poem

      Commented by :Rakesh kumar
      01-08-2020 18:25:51

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story