कविता - संकल्प

Medhaj News 8 Jul 20 , 14:40:25 Special Story Viewed : 7259 Times
poem.png

निश्चल होकर एक व्रत करें, आओ एक संकल्प करें |

मिलजुलकर अभ्यास करें, नए अन्वेषण का प्रयास करें |

कुछ स्वपन लिए आखों में जो, उसका भी प्राक्ट्चय करें |

भूत से वर्तमान का अवमूल्यन कर, आओ भविष्य का उल्लेख करें |


उच्च नीच का भेद मिटा, नए दायित्वों का निर्वाह करें |

इस धरा मिट्टी की शक्ति का आओ पूर्ण उपयोग करें |

समय है विषम परिस्थितियों में फिर भी मन उल्लास करें ||

पथ के अवरोधों को विश्राम समझ आओ कर्त्तव्य का बोध करें |


मन प्रफुल्लित, सत्यदीप प्रज्वलित करें  |

तीव्र गति से आओ ह्रदय को पतित करें ||

निश्चल होकर एक व्रत करें, आओ एक संकल्प करें |



-----पंकज कुमार(बस्ती)------


    74
    2

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story