विनायक चतुर्थी

विनायक चतुर्थी

हिन्दू धर्म में किसी भी कार्य को करने से पहले गणेश जी की पूजा करि जाती है।  गणेश जी की पूजा करने से कार्य में जो भी बाँधा आने वाली होती है वो दूर हो जाती है।  इस बार विनायक चतुर्थी का व्रत 14 जून दिन सोमवार को मनाई जाएगी। इस दिन पूरे विधि विधान से भगवन गणेश की पूजा और व्रत रखा जाता है और गणेश जी साड़ी मनोकामना पूरी करते हैं।

विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त-

ज्येष्ण माह शुक्ल पक्ष चतुर्थी आरंभ- 13 जून 2021 दिन रविवार रात 9 बजकर 40 मिनट से 

ज्येष्ठ माह शुक्ल पक्ष चतुर्थी समाप्त- 14 जून 2021 दिन सोमवार रात 10 बजकर 34 मिनट पर

विनायक चतुर्थी तिथि का महत्व

मान्यता है के विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा करने से और व्रत करने से साड़ी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। कार्य में कोई बाधा आने वाली हो तो वो दूर हो जाती है। जीवन में सकारात्मक ऊर्जा मिलती है और जीवन के सभी कास्ट दूर हो जाते हैं।

विनायक चतुर्थी की व्रत विधि

सुबह जल्दी उठकर स्नान करके लाल या पीले रंग के कपडे पहने। पूजा स्थान की सफाई करके जंगजल छिड़के।  गणेश जी की पूजा के लिए दीपक जलाएं। सिंदूर से भगवान गणेश का तिलक करें और उन्हें दूर्वा, फल, फूल और मिष्ठान अर्पित करें। फिर गणेश भगवान् की आरती करें।

Share this story