बॉल चमकाने के लिए आईसीसी दूसरा विकल्प तलाशे, नहीं तो गेंदबाजों को दिक्कत होगी- भुवनेश्वर

Medhajnews 29 Jun 20 , 15:20:26 Sports Viewed : 991 Times
000_1HD780.jpg

अभी भारतीय टीम का आने वाले समय में कोई भी टूर्नामेंट निर्धारित नही हो पाया है लेकिन भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार गेंद को चमकाने के लिए थूक के इस्तेमाल पर लगे प्रतिबंध से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इंटरनेशल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) को इसका विकल्प जल्द लाना चाहिए। गेंद को स्विंग कराने के लिए गेंदबाज को बॉल चमकाने की जरूरत होती है। इससे पहले जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और युजवेंद्र चहल भी यही बात कह चुके हैं।



आपको बताते चले कि हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने कोरोनावायरस के कारण मैच के दौरान बॉल को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। हर टीम को एक पारी में दो बार चेतावनी दी जाएगी। तीसरी बार में पेनाल्टी के तौर पर बल्लेबाजी करने वाली टीम के खाते में 5 रन जोड़ दिए जाएंगे।



भुवनेश्वर ने एक वेबिनार में कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि बॉल को चमकाने के लिए आईसीसी कोई आर्टिफिशियल चीज लेकर आएगी। आपको इसकी सबसे ज्यादा जरूरत तब होगी, जब इंग्लैंड जैसी स्विंग कंडिशन में बॉलिंग करेंगे। स्पिनर्स को भी इसकी बहुत जरूरत होगी।’’



इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘इस साल आईपीएल को जरूर होना चाहिए। क्रिकेट और आर्थिक तौर पर दोनों के लिए यह लीग बहुत ज्यादा जरूरी है।’’ इस साल कोरोना के कारण आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है। यह टूर्नामेंट 29 मार्च से होना था। बीसीसीआई टी-20 वर्ल्ड कप टलेगा या नहीं, इस पर आईसीसी के फैसला का इंतजार कर रहा है। यदि वर्ल्ड कप नहीं होता है, तो उसकी जगह अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल कराया जा सकता है।



इससे पहले बुमराह ने कहा था, ‘‘थूक का इस्तेमाल गेंद पर नहीं होने से खेल पूरी तरह बदल जाएगा। इसका पूरा फायदा बल्लेबाजों को ही मिलेगा। पहले ही मैदान छोटे और विकेट सपाट होते जा रहे हैं। ऐसे में गेंदबाजों को थूक की जगह बॉल को चमकाने के लिए कोई और विकल्प मिलना चाहिए ताकि स्विंग या रिवर्स स्विंग मिल सके। ’’



आपको ज्ञात होगा कि भारत के सीनियर तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा और स्पिनर युजवेंद्र चहल ने भी बॉल को चमकाने के लिए थूक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध को गलत बताया था। ईशांत ने कहा था, ‘‘यदि हम रेड बॉल (टेस्ट मैच में) को चमकाएंगे नहीं, तो वह स्विंग नहीं होगी। यदि स्विंग नहीं मिलेगी, तो बल्लेबाजों के लिए बॉल खेलना काफी आसान हो जाएगा। मेरा मानना है कि मुकाबला बराबर का होना चाहिए, न कि पूरा मैच बल्लेबाजों के पक्ष में करना चाहिए।’’


    5
    0

    Comments

    • ok

      Commented by :Arif Ahamad
      30-06-2020 14:38:31

    • Right

      Commented by :Sandeep kumar yadav
      30-06-2020 10:33:58

    • Right

      Commented by :Gaurav Singh, haridwar, (uttrakhand)
      30-06-2020 04:48:38

    • Ok

      Commented by :Gaurav Lohani
      29-06-2020 23:00:16

    • Good decision

      Commented by :Aslam
      29-06-2020 20:22:53

    • Right but Dicision according to safety.........

      Commented by :Deependra Yadav
      29-06-2020 17:59:28

    • Right but safety is first

      Commented by :Brijesh Patel
      29-06-2020 17:12:41

    • Right

      Commented by :Md Shoyaib Alam
      29-06-2020 16:20:30

    • Right

      Commented by :Sameer Siddiquee Almora
      29-06-2020 15:27:48

    • Right

      Commented by :Amit Kumar
      29-06-2020 15:24:45

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story