भगवान राम को नेपाली बताने वाला पड़ोसी देश बुद्ध को भारतीय कहने पर भड़क क्यों गया

Medhaj News 9 Aug 20 , 22:20:50 Sports Viewed : 1858 Times
nepal_696x390.jpg

विदेश मंत्री एस जयशंकर के भगवान बुद्ध से जुड़े बयान पर रविवार (9 अगस्त) को विदेश मंत्रालय ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि इस बात में कोई संदेह नहीं है कि बुद्ध का जन्म लुम्बिनी में हुआ था और वह स्थान नेपाल में है। दरअसल विदेश मंत्री ने शनिवार (8 अगस्त) को सीआईआई शिखर सम्मेलन में ऑनलाइन वार्ता के दौरान भगवान बुद्ध को भारतीय कहा था और नेपाल ने इस पर आपत्ति जताई थी। जयशंकर के बयान पर नेपाल ने सख्त प्रतिक्रिया दी थी। नेपाल विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में कहा गया था, यह "ऐतिहासिक और पुरातात्विक साक्ष्यों से यह तथ्य स्थापित और निर्विवाद तौर पर साबित हुआ है कि गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल के लुम्बिनी में हुआ था। बुद्ध का जन्मस्थान और बौद्ध धर्म का उत्पति केंद्र लुम्बिनी यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों में से एक है।”

विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा सीआईआई के एक कार्यक्रम में दिए गए बयान के हवाले से मीडिया की तरफ से पूछे गए एक सवाल के जवाब में नेपाल विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह बात कही।जयशंकर के बयान के बाद नेपाल में हंगामा मच गया और मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस सहित कई राजनीतिक दलों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। नेपाल विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने 2014 के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेपाल दौरे का भी जिक्र किया, जिसमें उन्होंने नेपाल की संसद को संबोधित करते हुए कहा था कि नेपाल वह देश है, जहां दुनिया के शांति के दूत बुद्ध ने जन्म लिया था। 


    17
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story