मैनचेस्टर टेस्ट में पाकिस्तान की मजबूत पकड़, इंग्लैंड आज 92/4 से आगे खेलेगा

Medhajnews 7 Aug 20 , 14:00:47 Sports Viewed : 1211 Times
1.01.jpg

इस कोरोना काल में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच 3 टेस्ट की सीरीज का पहला मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेला जा रहा है। मैच का दूसरा दिन खत्म होने तक इंग्लैंड ने पहली पारी में 4 विकेट पर 92 रन बना लिए हैं। इससे पहले पाकिस्तान ने 326 रन बनाए थे। इस लिहाज से टीम को 234 रन की बढ़त मिल गई है। इंग्लैंड के ओली पोप 46 और जोस बटलर 15 रन बनाकर नाबाद हैं।



पहली पारी में इंग्लैंड की शुरुआत खराब रही और 12 रन पर ही 3 विकेट गंवा दिए। चौथा विकेट 62 रन पर गिरा। सबसे पहले रोरी बर्न्स (4 रन) को शाहीन अफरीदी ने एलबीडब्ल्यू किया। इसके बाद मोहम्मद अब्बास ने डॉम सिबली (8 रन) को एलबीडब्ल्यू और फिर बेन स्टोक्स को शून्य पर बोल्ड किया। जो रूट भी 14 रन बनाकर यासिर शाह की बोल पर मोहम्मद रिजवान के हाथों कैच आउट हुए।



आपको बताते चले कि पाकिस्तान की पारी में ओपनर शान मसूद ने अपने करियर का चौथा और लगातार तीसरा शतक लगाया। शान को अपने टेस्ट करियर के बेस्ट स्कोर 156 रन पर स्टुअर्ट ब्रॉड ने एलबीडब्ल्यू किया। उनके अलावा बाबर आजम ने 69 और शादाब खान ने 45 रन की पारी खेली। शान ने बाबर के साथ तीसरे विकेट के लिए 96 और फिर शादाब के साथ छठे विकेट के लिए 105 रन की पार्टनरशिप की थी। इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर और स्टुअर्ट ब्रॉड ने 3-3 विकेट लिए। इनके अलावा क्रिस वोक्स को 2 और जेम्स एंडरसन, डॉम बेस को 1-1 विकेट मिला।



इससे पहले मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी। टीम को पहला झटका आबिद अली के रूप में लगा। वे 16 रन बनाकर जोफ्रा आर्चर की बॉल पर बोल्ड हो गए। इसके बाद क्रिस वोक्स ने कप्तान अजहर अली को एलबीडब्ल्यू किया। अजहर ने 6 बॉल खेली, लेकिन खाता नहीं खोल सके। पहले दिन बारिश के कारण लंच से चायकाल के बाद तक करीब ढाई घंटे का खेल नहीं हो सका था।



शान मसूद ने लगातार तीसरा शतक लगाया है। ऐसा करने वाले वे छठे पाकिस्तानी प्लेयर हैं। सबसे पहले जहीर अब्बास ने 1982-83 में लगातार तीन शतक जड़े थे। शान ने इससे पहले इसी साल फरवरी में बांग्लादेश के खिलाफ 100 और दिसंबर 2019 में श्रीलंका के खिलाफ 135 रन की पारी खेली थी। शान के टेस्ट करियर का 156 रन बेस्ट स्कोर है।



जानकारी के लिए आपको बता दे कि इस सीरीज से टेस्ट क्रिकेट में पहली बार ट्रायल के तौर पर फ्रंट फुट नो बॉल का फैसला मैदानी की बजाय टीवी अंपायर करेंगे। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने बुधवार को इसकी घोषणा की। वनडे में पहली बार 2016 में पाकिस्तान-इंग्लैंड के बीच हुई सीरीज से इस तकनीक का ट्रायल के तौर पर इस्तेमाल हुआ था। आईसीसी ने कहा कि फ्रंट फुट नो बॉल तकनीक की समीक्षा के बाद भविष्य में इसका इस्तेमाल जारी रखने पर फैसला लिया जाएगा।


    6
    0

    Comments

    • Ok..............

      Commented by :Deependra Yadav
      08-08-2020 13:13:16

    • Good

      Commented by :Aditya Yadav
      07-08-2020 21:51:12

    • Ok

      Commented by :Ashish kumar nainital
      07-08-2020 21:12:04

    • Ok

      Commented by :AJEET Kumar
      07-08-2020 17:26:43

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story