सचिन हमेशा मुझे स्ट्राइक लेने को कहते थे, इसके लिए सचिन के पास दो वजहें होती थी- सौरव गांगुली

Medhajnews 6 Jul 20 , 16:25:28 Sports Viewed : 1088 Times
9.jpg

अपने जमाने की मशहूर ओपनिंग जोड़ी सचिन और सौरव कौन नहीं जानता होगा इनको, जब ये दोनों खेलते थे तब लोग अपनी जगह रुक जाते थे। अब पुरानी याद को ताजा करते हुए बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर हमेशा मुझे ही पहली गेंद पर स्ट्राइक लेने के लिए कहते थे। उन्होंने यह खुलासा क्रिकेटर मयंक अग्रवाल से ऑनलाइन चैटिंग के दौरान किया। गांगुली ने कहा कि पहले स्ट्राइक न लेने के पीछे हमेशा सचिन के पास दो वजहें होतीं थी। उनके पास अच्छे फॉर्म और खराब फॉर्म दोनों का जवाब था। फॉर्म में होने पर वे कहते कि उन्हें नॉन-स्ट्राइकर एंड पर बने रहना चाहिए। वहीं, फॉर्म खराब होने पर कहते थे कि मुझे नॉन-स्ट्राइकर के अंत में रहना चाहिए, क्योंकि यह मुझ पर दबाव डालता है।



सौरव गांगुली और मयंक के इस बातचीत का वीडियो बीसीसीआई ने ट्विटर पर शेयर किया है। गांगुली ने कहा कि एक-दो बार सचिन ने पहली गेंद पर स्ट्राइक भी ली है, लेकिन ऐसा तब होता जब मैं पहले ही नॉन स्ट्राइक पर जाकर खड़ा हो जाता था।



जानकारी के लिए आपको बताते चले कि सचिन तेंदुलकर और भारत के पूर्व कप्तान गांगुली ने वनडे के 176 पारियां खेली हैं। इनमें दोनों ने मिलकर 47.55 की एवरेज से 8227 रन बनाए हैं। वनडे में एक साथ 6,000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी इसी जोड़ी के पास है। वहीं, सचिन और गांगुली ने भारत के लिए 136 पारियों में ओपनिंग की है। इस दौरान दोनों ने 49.32 की एवरेज से 6,609 रन बनाए हैं। रनों के लिहाज से सचिन-गांगुली की दुनिया में अब तक की सबसे सफल ओपनिंग साझेदारी मानी जाती है।



 


    3
    0

    Comments

    • Both of very good player

      Commented by :Brijesh Patel
      06-07-2020 19:40:25

    • Good player

      Commented by :Amit Kumar
      06-07-2020 17:20:11

    • Nice dada

      Commented by :Anil Yadav
      06-07-2020 16:34:40

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story