कोरोना वायरस महामारी के दौरान सौरव गांगुली ने दिखाई दरियादिली

बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) जरूरतमंद लोगों को 50 लाख रुपये का चावल मुफ्त में मुहैया करेंगे, जिन्हें कोरोनो वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण सुरक्षा के लिए सरकारी स्कूलों में रखा गया है | इसके लिए गांगुली और लाल बाबा राइस के बीच एक करार हुआ है | एक बयान में कहा गया है - उम्मीद है कि गांगुली की इस पहल से अन्य लोग भी राज्य के दूसरे लोगों की सेवा करने के लिए आगे आने के लिए प्रेरित होंगे | इससे पहले, बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को 25 लाख रुपये की मदद देने का फैसला किया | सीएबी के अध्यक्ष अभिषेक डालमिया ने अपनी तरफ से भी राज्य सरकार के रिलीफ फंड में मदद देने की बात कही है |



कोरोना वायरस महामारी के दौरान सौरव गांगुली ने दिखाई दरियादिली



सीएबी ने कहा - कोरोना वायरस से पैदा हुए इस हालात में जहां सभी का ध्यान और संसाधन इससे निपटने पर है, ऐसे में सीएबी ने इस बीमारी से निपटने के लिए राज्य सरकार को 25 लाख रुपये की मदद देने का फैसला किया है | बयान में कहा गया है - हम शायद इंसानी सभ्यता के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं | क्रिकेट एकता का प्रतीक है | यह इंसानियात को भी परिभाषित करता है | इसलिए सीएबी ने इमरजेंसी रिलीफ फंड में 25 लाख रुपये देने का ऐलान किया है | एक जिम्मेदार संगठन के तौर पर यह हमारा दायित्व है कि हम प्रशासन के साथ खड़े रहें और उनकी इस बीमारी से लड़ने में मदद करें | अभिषेक ने अपील करते हुए कहा कि वह निजी तौर पर भी राज्य सरकार के इमरजेंसी रिलीफ फंड में योगदान देना चाहते हैं |


    Share this story