राज्य

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा पर साधा निशाना

उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार जनका का पैसा “कब्रिस्तान” के लिए जमीन खरीदने में खर्च नहीं कर रही है। राज्य सरकार ने मंदिरों में पुनर्निर्माण और सौंदर्यीकरण का काम किया है। ये कहना है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। अयोध्या में आयोजित किए गए दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान उन्होंने ये बातें कही है।


इसके अलावा उन्होंने विपक्षियों पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों के कार्यकाल में पैसे का उपयोग कब्रिस्तान की जमीन खरीदने के लिए किया जाता था। मगर हमारी सरकार ने ऐसा नहीं किया है। भाजपा की सरकार मंदिरों के लिए पैसा खर्च कर रही है।


अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के साथ ही ये दुनिया भर में पर्यटन का केंद्र होगा। अब तक सिर्फ डेढ़ लाख श्रद्धालु ही अयोध्या में आते है। मगर अयोध्या में आने वाले समय में पांच करोड़ पर्यटक आएंगे। इसी के साथ अयोध्या को शीर्ष पर लाने के उद्देश्य से सरकार काम कर रही है। रामनगरी अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण भी किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि अयोध्या में सिर्फ आध्यात्मिक केंद्र ही नहीं बल्कि रोजगार के कई अवसर भी उपलब्ध कराए जाएंगे। रोजगार के लिए अयोध्या में बड़े केंद्र का निर्माण होगा। उन्होंने विपक्षियों खासतौर से समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज के समय में विपक्ष पश्चाताप करने को मजबूर हो गया है। जनता के धैर्य का ही नतीजा है कि किसी समय गर्व के साथ राम भक्तों पर गोली चलाने वाले आज के समय में खुद रामभक्त बनने में जुटे हुए है।


समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि इनकी सत्ता में रामभक्त होना भी किसी बड़े अपराध से कम नहीं था। रामभक्तों पर गोली चलाने में इनकी सरकार गर्व करती थी। मगर आज का समय पहले जैसा नहीं रहा है। जिन्होंने किसी समय में रामभक्तों पर गोलियां चलवाई थी आज वो खुद रामभक्त बनते फिर रहे है। उन्होंने कहा कि वो दिन भी दूर नहीं है जब गोली चलाने वाले अपने पूरे परिवार के साथ भगवान राम की पूजा अर्चना करते दिखेंगे। 

उन्होंने कहा कि ये मर्यादापुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की ताकता का ही नतीजा है कि उन्होंने इन भटके हुए लोगों को सही दिशा दिखाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button