भारत

टाटा पावर तमिलनाडु में 41MW का सौर संयंत्र स्थापित करेगी

टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी (टीपीआरई) की तमिलनाडु में कैप्टिव उपयोग के लिए 41 मेगावाट का सौर संयंत्र स्थापित करने की महत्वाकांक्षी योजना कंपनी और भारत के नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। थूथुकुडी जिले में स्थित यह पहल, तिरुनेलवेली जिले में टीपी सोलर की आगामी 4.3 गीगावॉट ग्रीनफील्ड सौर सेल और मॉड्यूल विनिर्माण इकाई के लिए एक महत्वपूर्ण ऊर्जा स्रोत के रूप में काम करेगी।

सौर संयंत्र सालाना अनुमानित 101 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन करने के लिए तैयार है, जो भारत की नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता में एक बड़ा योगदान है। इसके अलावा, इससे सालाना लगभग 72,000 मीट्रिक टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को कम करने की उम्मीद है, जिससे जलवायु परिवर्तन से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी पड़ेगी।

महत्वपूर्ण रूप से, टीपीआरई का लक्ष्य परियोजना विकास समझौते (पीडीए) पर हस्ताक्षर करने के केवल 12 महीनों के भीतर इस सौर सुविधा को चालू करने में तेजी लाना है। इस तरह की तीव्र तैनाती न केवल दक्षता दर्शाती है बल्कि स्वच्छ ऊर्जा में परिवर्तन को तेज करने के लिए दृढ़ प्रतिबद्धता भी दर्शाती है।

नवीकरणीय ऊर्जा विकास के लिए तमिलनाडु सरकार का अटूट समर्थन इस प्रयास का एक और सकारात्मक पहलू है। टिकाऊ ऊर्जा पर उनका सक्रिय रुख भारत के नवीकरणीय ऊर्जा लक्ष्यों के साथ सहजता से मेल खाता है और इस क्षेत्र में निवेश के माहौल को बढ़ाता है।

यह पहल क्षेत्र के भीतर रोजगार के अवसर पैदा करके आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने की क्षमता भी रखती है। निर्माण के दौरान और संयंत्र के चालू संचालन के दौरान, रोजगार सृजन से क्षेत्र में आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।

टीपीआरई का कैप्टिव सौर संयंत्र कॉर्पोरेट जिम्मेदारी और स्थिरता के प्रमाण के रूप में कार्य करता है। यह अपने कार्बन पदचिह्न को कम करने और स्वच्छ ऊर्जा स्रोतों को अपनाने के लिए कंपनी के समर्पण को दर्शाता है। संक्षेप में, यह परियोजना निजी क्षेत्र के नवाचार, सरकारी समर्थन और पर्यावरणीय प्रबंधन के सामंजस्यपूर्ण मिश्रण का प्रतिनिधित्व करती है, जो भारत की हरित ऊर्जा महत्वाकांक्षाओं में महत्वपूर्ण योगदान देती है।

Read more…BMW ने भारत में 440 किलोमीटर की रेंज वाली अपनी इलेक्ट्रिक एसयूवी iX1 पेश की है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button