मनोरंजनहास्य

टीचर-चिंटू से :- चिंटू मुझे ऐसी कोई तीन जगह बताओ,

टीचर-चिंटू  से :- चिंटू  मुझे ऐसी कोई तीन जगह बताओ,

जहां पर कभी इंसान मरता ही नहीं है।

चिंटू  :- मैडम जी, स्वर्ग, नर्क और..स्टार प्लस।

——————————————————————

मास्टर जी एक ढाबे में बैठ कर एक ख़ाली कटोरी में

रोटियां डुबो-डुबो कर बड़े मज़े से खा रहे थे।

तभी वहाँ के एक वेटर ने पूछा :- मास्टर जी कटोरी में कुछ नही है,

फिर भी आप ख़ाली कटोरी में रोटी डुबो-डुबो कर कैसे खा रहे हैं?

मास्टर जी :- देखो बेटा, हम ठहरे गणित के मास्टर हैं।

तो इसलिए हमने कटोरी में सब्जी को ‘मान लिया’है।

——————————————————————

अध्यापक पप्पू से पूछते है :- पप्पू कोई ऐसी जगह का नाम बतायो मुझे,

जहां पर तुम्हारे आस-पास बहुत सारे लोग है,

फिर भी तुम वहाँ पर अपने आप को अकेला महसूस कर रहे हो?

पप्पू :- सर जी, परीक्षा कक्ष!

अध्यापक :- बेहोश!

——————————————————————

टीचर (एग्जाम समय चिंटू से) :- तुम चुपचाप क्यों बैठे हो, कुछ लिख क्यों नहीं रहे हो?

चिंटू:- मैम मुझे पेपर में कुछ आ नहीं रहा है।

टीचर :- अरे ऐसे कैसे हो सकता है, कुछ तो आ रहा होगा ना।

चिंटू:- हां मैम, बस रोना आ रहा है।

——————————————————————

टीचर क्लास में बच्चों से :- बच्चों अगर तुम लोग अपना सच में कैरेक्टर सुधारना चाहते हो

तो तुम लोग अपनी टीचर को मां समझो….

गोलू :- मैडम जी, इससे तो फिर हमारे पिताजी का कैरेक्टर खराब हो जायेगा….!!

——————————————————————

टीचर-मोहन से :- बताओ मोहन सन्-1869 में क्या हुआ ?

मोहन :- मैंम, गांधीजी का जन्म हुआ था!

टीचर :- बिलकुल सही मोहन. बैठ जाओ…

टीचर :- चल चिंटू अब तु बता.. 1872 में क्या हुआ…?

चिंटू :- मैंम, गांधीजी लगभग 3 साल के हो गए होंगे…

अब मैं भी बैठू जाऊ, मैंम?

——————————————————————AR

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button