विशेष खबर

भारत नाम, एक वैदिक नाम है और इंडिया हमारा नाम नहीं था?

आज कल भारत और इंडिया की लड़ाई चल रही है इसमें हमें क्या हम तो हिंदुस्तान में रहते हैं , तीनो ही नाम भारत के है। भारत नाम, एक वैदिक नाम है और इंडिया हमारा नाम नहीं था. अखंड भारत था इन सात दीपो के बीच था। ये सात द्वीप हैं-

जम्बू, प्लक्ष, शाल्मल, कुश, क्रौंच, शाक और पुष्कर.। उसके बाद आया चीनीकाल जो काल की तरह भारत में रहा और अखंड भारत कई गणराज्यों में बंट गया था. मौर्य वंश के सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य ने.अपने आचार्य चाणक्य के मार्गदर्शन में भारत को एकजुट किया था।

322 ईसा पूर्व में चंद्रगुप्त मौर्य ने नंद साम्राज्य को हराकर उसपर कब्जा कर लिया. फिर सिकंदर के कब्जे वाले इलाकों पर कब्जा करना शुरू किया. 305 ईसा पूर्व में चंद्रगुप्त मौर्य ने सिकंदर के सेनापति सेल्युकस को भी हरा दिया था.

भारत के टुकड़े कुछ इस प्रकार हुए :-

अफगानिस्तानः 1876 में रूस-ब्रिटेन की संधि हुई जिससे अफगानिस्तान एक ये बफर स्टेट बना और। 1919 में आजादी मिली

नेपालः 1904 में गोरखाओं और अंग्रेजों में  संधि हुई. जिससे नेपाल अलग देश बना.

भूटानः ब्रिटेन ने 1907 में भूटान में उग्येन वांगचुक की राजशाही स्थापित हुई।

तिब्बतः 1914 में मैकमोहन लाइन बनी. इससे तिब्बत चीन का हिस्सा बन गया।

म्यांमारः भारत से 10 साल पहले 1937 में ब्रिटेन ने बर्मा (म्यांमार) को आजाद कर दिया.

श्रीलंकाः ब्रिटेन का कब्जा था, 1948 में श्रीलंका आजाद हुआ.

पाकिस्तान:-1947 में भारत का बंटवारा हुआ. और पाकिस्तान बन.

बांग्लादेशः पहले पाकिस्तान का हिस्सा था. 1971 में बांग्लादेश एक अलग मुल्क बना…

भविष्य में भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, नेपाल, भूटान, तिब्बत, म्यांमार और श्रीलंका अखंड भारत होंगे तो देश का कुल क्षेत्रफल 83.97 लाख वर्ग किलोमीटर और उसकी आबादी मौजूदा आंकड़ों के मुताबिक, 170 करोड़ से ज्यादा होगी. 55 करोड़ मुस्लिम और 100 करोड़ हिंदू होंगे. मुस्लिम आबादी 32% और हिंदू 60% होगी। अखंड भारत की अर्थव्यवस्था, जीडीपी 300 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की होगी. सबसे ज्यादा जीडीपी भारत की ही होगी.।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button