इकलौते बेटे ने कर दिया माता-पिता का क़त्ल

कोई माँ-बाप ये कभी नहीं सोच सकता कि जिस बेटे को उन्होंने अपने हांथो से पाला और बड़ा किया वही बेटा एक दिन उनका ही क़त्ल कर देगा मगर ऐसी ही एक वारदात सोमवार की रात मीरुत में घटित हुई जहाँ पर २२ वर्षीय बेटे ने अपने दोस्त के साथ मिल कर अपने ही माँ बाप का बेरहमी के साथ क़त्ल कर दिया , इस घटना के बारे में जिस किसी को पता चला वह सभी हैरान थे।

मेरठ के शास्त्री नगर के रहने वाले प्रमोद कर्णवाल व उनकी पत्नी की हत्या बड़ी दरिंदगी के साथ की गयी जिसने देखा हर कोई सहमा हुआ था। कोई भी इस बात पर भरोसा नहीं कर पा रहा था कि एकलौता बेटा आर्यन अपने सगे माँ-बाप की इतनी दरिंदगी से हत्या कर सकता है।

हत्या के बाद पुलिस ने आर्यन और उसके दोस्त आदित्य को गिरफ्तार कर लिया है जिसके बाद इस घटना के बारे में एसएसपी ने बताया की प्रमोद आये दिन शराब पी कर अपनी पत्नी के साथ झगड़ा करता था। प्रमोद का दो दिन पहले महौल्ले के किसी पडोसी से झगड़ा हो गया था जिसके बाद घर आकर उसने अपनी पत्नी को फिर से पीट दिया। सोमवार के दिन उसकी पत्नी ने भिंडी की सब्जी बनायीं जिसमे कम रेशे होने पर कारण उसने पत्नी को फिर पीट दिया जिस बात से गुस्साए आर्यन ने अपने पिता की हत्या की प्लानिंग बनायीं।

रात करीब ८ बजे वह बाहर से सभी के लिए मैंगो शेक लेकर आया जिसमे उसने नींद की गोली मिला रखी थी जिसे उसने दादा-दादी और अपनी माँ को पीला दिया। उसका प्लान था कि दादा-दादी और माँ सो जायँगे जिसके बाद वो अपनी पिता की हत्या कर देगा। प्लान के मुताबिक वह रात १० बजे गुरुग्राम जाने की बात कहकर घर से निकल गया। रात करीब ११:२० बजे वह अपने दोस्त आदित्य वशिष्ठ के साथ स्कूटी से चाकू लेकर घर आया और अपने पिता को फोन करके गेट खुलवाया।

प्रमोद गेट खोलने आया तो आदित्य ने उनके पैर छुए और दोनों ऊपर चले गए कुछ देर बाद जब उन्हें लगा की प्रमोद लेट गए है दोनों ने कमरे में जाकर उसका गाला काट डाला और कई बार उसपर वार किये जब वो दोनों प्रमोद को मार रहे थे तो इसी बीच आर्यन की माँ की आंख खुल गयी वाह जोर से चीखी जिसपर आदित्य ने उनका मुँह हांथो से दबा दिया और आर्यन से बोला की अब इनको भी मरना होगा क्योंकि इन्होने सबकुछ देख लिया है और अगर इन्हे जिन्दा छोड़ा तो पकडे जायेंगे जिसके बाद आर्यन ने अपने दोस्त के साथ मिलकर माँ को भी मार डाला।

खून करने के बाद दोनों ने खून से सने कपडे बदले। चाकू और खून से सने कपड़ो को बैग में रखा और टायलेट में हाथ धोये इस खुनी खेल के करीब २ घंटे के बाद रात करीब १:४५ बजे वो दोनों वहां से स्कूटी लेकर निकल गए करीब सुबह ४ बजे ये दोनों गुरुग्राम पहुँच गए।

Exit mobile version