राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

प्रदेश के सरकारी और गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं में युवा पर्यटन क्लब के गठन की कार्रवाई प्रगति पर

प्रदेश की समृद्ध सांस्कृतिक, आध्यात्मिक, ऐतिहासिक एवं प्राकृतिक विरासत के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के लिए प्रदेश के शासकीय एवं गैर शासकीय शैक्षणिक संस्थानों में युवा पर्यटन क्लब गठित किया जा रहा है। इस पर्यटन क्लब में कम से कम 25 छात्र एवं 02 शिक्षक शामिल किये जाएंगे। इस युवा पर्यटन क्लब के सभी सदस्यों को पर्यटन मित्र कहा जायेगा। इन क्लबों की पर्यटन सम्बंधी गतिविधियों के संचालन के लिए 10 हजार रूपये की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जायेगी।

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि युवा पर्यटन क्लबों के सदस्यों द्वारा फोटोग्राफी, सेल्फी, प्रतियोगिता, साइकिलिंग टूर, हेरिटेज वॉक, स्थानीय भ्रमण आदि कार्यक्रम कराये जाने के साथ-साथ पर्यटन स्थलों पर जाकर पर्यटन विषयों पर निबंध लेखन, चित्रकला, पोस्टर बनाना, नाट्य रूपांतरण, वाद-विवाद जागरूकता अभियान आदि गतिविधियां सम्पादित की जाएंगी।

पर्यटन मंत्री ने बताया कि उ0प्र0 पर्यटन नीति-2022 के अन्तर्गत प्रदेश में स्थापित राजकीय इण्टर कॉलेज, डिग्री कॉलेज, नवोदय विद्यालय, केन्द्रीय विद्यालय, अटल श्रमिक स्कूल, कस्तूरबा गांधी विद्यालय आदि शैक्षणिक संस्थानों को पर्यटन सम्बंधी गतिविधियों के लिए 10 हजार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि एक मण्डल में एक वर्ष में अधिकतम 10 ऐसे क्लबो को सम्बंधित जिले के जिलाधिकारी की संस्तुति पर सहायता प्रदान की जायेगी। किसी शैक्षणिक संस्थान को वर्ष में एक बार ही आर्थिक सहायता दी जायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button