खेलICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023

इस बार क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत ऑस्ट्रेलिया को हरा देगा?

क्रिकेट वर्ल्ड कप २०२३, ५ अक्टूबर से शुरू होगा जो १९ नंबर तक चलेगा , सभी मैच राउंड रोबिन लीग की तर्ज पर खेले जायेंगे जिसमे भारत का पहला मुकाबला,चेन्नई में ८ अक्टूबर को एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेला जाएगा और सामने होगा .ऑस्ट्रेलिया। वर्ल्ड कप में भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच 12 मैच खेले गए हैं, जिसमे भारत के हाथ सिर्फ ४ मैच में ही सफलता हाथ लगी है आंकड़ों की माने तो वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम का ही पलड़ा भारी दिख रहा है. इस टूर्नामेंट का शुरुआती मुकाबला मौजूदा चैम्पियन इंग्लैंड और पिछली बार की उपविजेता न्यूजीलैंड के बीच खेला जायेगा।

ऑस्ट्रेलिया रिकॉर्ड पांच बार की वर्ल्ड चैम्पियन है, वहीं भारत दो बार वर्ल्ड टाइटल जीत चुका है। तो स्वाभाविक है मैच कांटे का होगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने एमए चिदंबरम स्टेडियम में अबतक छह वनडे इंटरनेशनल खेले हैं, जिसमें उसे पांच मैचों मे ऑस्ट्रेलिया को इकलौती हार साल 2017 में भारत ने दी थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चेन्नई में अबतक तीन वनडे मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें कंगारू दो और भारत को एक मुकाबले में जीत हासिल हुई।

भारत-ऑस्ट्रेलिया का ODI रिकॉर्ड (चेपॉक में)

9 अक्टूबर 1987- ऑस्ट्रेलिया 1 रन से जीता
17 सितंबर 2017- भारत 26 रन से जीता
22 मार्च 2023- ऑस्ट्रेलिया 21 से जीता

भारत ने चेन्नई के मैदान पर,कुल मिलाकर 14 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इस दौरान उसे सात मैचों में जीत और छह में हार मिली। जबकि एक मुकाबला बेनतीजा रहा। चेपॉक की पिच आमतौर पर स्पिनरों की मददगार मानी जाती है और काफी टर्न देखने को मिलता है। भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा, आर. अश्विन, कुलदीप यादव जैसे वर्ल्ड क्लास स्पिनर्स हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया के पास एडम जाम्पा और भारतीय मूल के तनवीर संघा हैं। दोनों टीमों के पास एक से बढ़कर एक बल्लेबाज भी हैं, जो मिनटों में गेम का पासा पलट सकते हैं।

एमए चिदंबरम स्टेडियम की स्थापना 1916 में हुई थी। यहां पहला टेस्ट मैच 1934 में सीके नायडू की भारतीय टीम का नेतत्व किया और डगलस जार्डिन ने इंग्लैंड का। भारतीय क्रिकेट इतिहास में पहली बार रणजी ट्रॉफी मैच चेन्नई में खेला गया था, जब एजी राम सिंह ने 11 विकेट लेकर मद्रास को एक दिन में मैसूर पर जीत दिलाई थी। भारत ने 1951-52 में इंग्लैंड पर एक पारी और 8 रनों से जीत दर्ज की थी जो पहली जीत थी।

दिसंबर १९८३ में सुनील गावस्कर ने इस मैदान पर अपना 30वां टेस्ट शतक लगाकर ब्रैडमैन को पीछे छोड़ा था। 1986-87 में भारत-ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला टाई रहा, जो टेस्ट इतिहास में महज दूसरी बार हुआ। अगले सीजन में लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी ने टेस्ट डेब्यू पर रिकॉर्ड 16 विकेट लिए थे। वीरेंद्र सहवाग ने 319 रन बनाये थे।

Read more….World Cup 2023: ENG ‘फाइनल में भारत हारेगा, पाकिस्तान सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंचेगी’, James Anderson ने की भविष्यवाणी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button