सेहत और स्वास्थ्य

नरम और स्पंजी इडली बनाने के टिप्स

चाहे आप सुबह के नाश्ते में या शाम के नाश्ते में और रात के खाने में कुछ खाने की तलाश में है तो इडली सांभर एक ऐसी चीज़ है जिसे बिना ज्यादा सोचे-समझे खाया जा सकता है। चाहे बात सेहतमंद खाने की हो या स्वादिष्ट खाने की, इडली सबसे अच्छी चीज़ है। किण्वित चावल और उड़द दाल के साथ बनी इडली एक जादुई परिवर्तन से बनती है। यह हल्की और आसानी से पचने योग्य होती है। इसकी बहुमुखी प्रकृति इसे मसालेदार चटनी और तीखा सांभर जैसी विभिन्न सामग्रियों के साथ आनंद लेने की अनुमति देती है, जिससे यह स्वाद कलियों के लिए एक आनंददायक बन जाता है। यह दक्षिण भारत में एक मुख्य भोजन है और इसे पूरे देश में लोग पसंद करते हैं और इसे सबसे अच्छे नाश्ते में एक व्यंजन के रूप में खाया जाता है। नरम और स्पंजी बनावट इसे एक आनंददायक नाश्ते का विकल्प बनाती है, जो पेट के लिए अच्छी होती है और दिन की शुरुआत करने के लिए ऊर्जावान है। इसका एक स्वादिष्ट स्वाद इसे दोपहर के भोजन या रात के खाने के लिए समान रूप से आकर्षक बनाता है। इसको तले जाने के बजाय भाप में पकाया जाता है। यह एक हल्का और कम कैलोरी वाला व्यंजन है, जो वजन के प्रति जागरूक व्यक्तियों के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प बनाता है। लेकिन, बहुत से लोगों से परफेक्ट इडली नहीं बनती है। जब लोग घर पर इडली बनाने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें सही अनुपात नहीं पता होता है और इडली या तो बहुत सख्त या गीली हो जाती है। अगर आपको भी इडली बनाना नहीं आती है तो यहाँ कुछ सुझाव दिए गए हैं जो इडली को नरम और स्पंजी बनाने में मदद कर सकते हैं। इडली बनाने की इन सरल युक्तियों के बारे में जानने के लिए और पढ़ें जो बड़े बैच के लिए इडली बनाते समय काम आ सकती हैं।

दाल की सोखने और पीसने की प्रक्रिया: इडली बनाने के लिए सही प्रकार की दाल का चयन करें, जैसे कि उड़द दाल और चावल ले। उड़द दाल को अच्छे से धोकर 4-5 घंटे तक भिगो दें, और चावल को भी अलग से धोकर भिगो दें। फिर इन्हें मिलाकर पीस लें। आपको मिश्रण केक की बैटर की तरह बनाना है।

बैटर की फर्मिंग: पीसे हुए मिश्रण में पानी डालकर गाढ़ा बैटर तैयार करें, जिसमें डोसा के लिए मिश्रण अच्छे से फेंल जाए। यदि आवश्यकता हो तो थोड़ा सा फिटकरी का पानी डालकर बैटर को जड़ने में मदद करें।

फरमेंटेशन: बैटर को फरमेंट करने के लिए उसे रात भर के लिए या कम से कम 6-8 घंटे के लिए भीगो दें। बैटर में वायलेट या उसके बराबर का गैस बनना चाहिए जिससे इडली फूले और स्पंजी बने।

नमक स्वादनुसार: बैटर में नमक और सोडा का सही मात्रा मिलाये, जो आपके स्वादानुसार हो।

इडली बनाने की प्रक्रिया: इडली बनाने के लिए इडली प्लेट को थोड़ा तेल लगाए। फिर फरमेंटेड बैटर को इडली प्लेट में डालें और उसे धीरे से इडली के कूकर में रख दें।

उपयुक्त वापर: जब इडली बनकर तैयार हो जाये, तो उन्हें तुरंत उतार लें और गरमा गरम सर्व करें। इडली को सांभर और नारियल चटनी के साथ परोसें।

ध्यान देने योग्य बातें: जब आप इडली बना रहे हैं, तो ध्यान दें कि आपकी इडली कूकर में पानी भरा हुआ है इससे आपकी इडली सही तरीके से बनेंगी।

इन टिप्स का पालन करके आप घर पर नरम और स्पंजी इडली बना सकते हैं। यह थोड़ा समय लेता है, लेकिन प्रैक्टिस हो जाने के बाद आप इन्हें परफेक्ट बना सकते हैं।

Read more….किशमिश का पानी पीते ही भाग जाते हैं ये रोग, अनगिनत है फायदे, जानिए!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button