खेल

अंपायर नितिन मेनन का बड़ा बयान, टीम इंडिया के बड़े स्टार हमेशा बनाते हैं दबाव – मेधज न्यूज़

तेजतर्रार अंपायर नितिन मेनन (Nitin Menon) के एक बयान ने इस वक्त खलबली मचा रखी है। मेनन का कहना है कि भारत के बड़े खिलाड़ी अंपायर के फैसलों पर दबाव बनाते हैं। उन्होंने यूएई और ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप के मैचों में भी अंपायरिंग की और पिछले साल इंग्लैंड में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में अंपायरिंग करते दिखे। उन्होंने जून 2020 से 15 टेस्ट, 24 वनडे और 20 टी20 मैचों में अंपायरिंग की है।

क्रिकेट के गेम में अंपायरिंग का काम वाकई मुश्किल है। सोशल मीडिया के इस दौर में अगर अंपायर से छोटी सी भी गलती हो जाए, तो उन्हें कई दिनों तक फैंस की ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ता है। ऐसे में भारतीय अंपायर नितिन मेनन का एक बयान काफी सुर्खियां बटोर रहा है, मौजूदा समय में नितिन मेनन आईसीसी एलीट पैनल के अंपायर हैं। नितिन मेनन ने कहा कि भारतीय टीम के बड़े खिलाड़ी हमेशा अंपायर पर पक्ष में फैसला देने के लिए दबाव बनाते हैं। उन्होंने कहा कि वह पिछले 3 साल से ऐसे हालात का सामना कर रहे हैं। हालांकि, इस भारतीय अंपायर ने कहा कि इस तरह के हालात ने उन्हें बेहतर बनने में मदद की है। और उन्होंने कहा कि लेकिन वह मैदान पर अपने विवेक से फैसले लेते हैं और कभी दबाव में नहीं आते। उन्होंने कहा,पहले दो साल भारतीय उपमहाद्वीप में काम करना शानदार रहा। टेस्ट मैचों में अंपायरिंग की और आस्ट्रेलिया तथा दुबई में दो टी20 विश्व कप में भी। मैं सर्वश्रेष्ठ मैच अधिकारियों और खिलाड़ियों के साथ काम कर रहा हूं जिससे अनुभव बेहतर हुआ। इससे मुझे खुद को भी जानने का मौका मिला कि दबाव में कैसा बर्ताव करता हूं।

भारतीय इंटरनेशनल अंपायरों का प्रतिनिधित्व करना बड़ी जिम्मेदारी- नितिन मेनन

नितिन मेनन कहते हैं कि मैं दबाव झेलने के लिए काफी मजबूत हूं। मेरे ऊपर अंपायरिंग के दौरान खिलाड़ियों के द्वारा दबाव बनाया जाता है, लेकिन दबाव में नहीं आता हूं। इससे मुझे काफी आत्मविश्वास मिलता है। उन्होंने कहा कि भारतीय इंटरनेशनल अंपायरों का प्रतिनिधित्व करना बड़ी जिम्मेदारी है। हालांकि, जब मैंने शुरू किया था, उस वक्त मेरे पास बहुत ज्यादा अनुभव नहीं था, लेकिन वक्त के साथ बेहतर होता गया। साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले 3 साल में काफी कुछ सीखने को मिला।

एशेज की तैयारी के बारे में उन्होंने कहा, ”यह बेहतरीन श्रृंखला होगी। मैने इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच श्रृंखला में अंपायरिंग की थी। मुझे पता है कि बैजबॉल क्या है और क्या अपेक्षा करनी है। हर मैच में बहुत कुछ दाव पर होगा लेकिन मैं बेसिक्स पर अमल करूंगा और उसके अनुसार ही फैसले लूंगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button