राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

पीएमएवाई अर्बन के बेनिफिशियरी अवार्ड्स 2023 में जीत की हैट्रिक लगाने को तैयार यूपी

प्रधानमंत्री आवास योजना अर्बन के 8 वर्ष पूर्ण होने पर केंद्र सरकार ने पीएमएवाई-अर्बन के बेनिफिशियरी अवार्ड्स-2023 और पीएमएवाई (यू) स्टेट अवार्ड्स फॉर स्कीम इंप्लीमेंटेशन अवार्ड शुरू करने की योजना बनाई है। योजना के तहत प्रदेश में सर्वाधिक आवास देने वाली योगी सरकार ने पीएमएवाई-अर्बन के बेनिफिशियरी अवार्ड्स-2023 में लगातार तीसरी बार प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्धता जताई है। योगी सरकार की ओर से इसके लिए सूडा को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये गये हैं। इसी क्रम में सूडा ने निकाय स्तर पर कमेटी गठित कर एसओपी भी जारी कर दी है। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश लगातार दो बार से इन अवार्ड को जीत रहा है और उसका प्रयास लगातार तीसरी बार अवार्ड जीतकर हैट्रिक बनाने का है।

2019 एवं 2022 में यूपी ने हासिल किया था प्रथम स्थान

राज्य नगरीय विकास अभिकरण उत्तर प्रदेश (सूडा) के मिशन निदेशक डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि पीएमएवाई-यू (2015-2021) के आठ वर्ष पूरे होने पर बेनिफिशियरी अवार्ड्स-2023 और पीएमएवाई (यू) स्टेट अवार्ड्स फॉर स्कीम इंप्लीमेंटेशन के तीसरे चरण का आयोजन किया जा रहा है। इसका उद्देश्य देश भर में पीएमएवाई-यू के लाभार्थियों की सक्रिय भागीदारी को पहचानने एवं प्रदेश में योजना की प्रगति को पहचानना है। केंद्र सरकार ने आवेदन के लिए 25 जून से 31 दिसंबर तक की तिथि निर्धारित की है। मालूम हो कि भारत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) अवार्ड-2019 एवं 2022 में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया था। अवार्ड-2019 में नगर पालिका परिषद मीरजापुर को नगर पालिका परिषद श्रेणी में प्रथम पुरस्कार, नगर पंचायत मलिहाबाद, लखनऊ को प्रथम तथा नगर पंचायत हरिहरपुर, संत कबीर नगर को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया था। वहीं अवार्ड-2021 में नगर निगम आगरा को नगर निगम श्रेणी में प्रथम पुरस्कार, नगर पालिका परिषद भदोही को नगर पालिका परिषद श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार तथा नगर पंचायत किरौली को नगर पंचायत श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया था।

लंबित कार्यों के लिए गठित की जाएगी टीम

सूडा के मिशन निदेशक ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप पीएमएवाई-यू अवार्ड में पहला स्थान प्राप्त करने के लिए विभाग ने अपने स्तर पर अवार्ड के आंकलन के लिए दो पैरामीटर तय किए हैं। इन पैरामीटर पर खरे उतरने वाले दो शहरों को बेस्ट एचीवर और परफॉर्मेंस से पुरस्कृत किया जाएगा, जो केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित अवार्ड की डेट तक लागू होगा। बेस्ट परफॉर्मेंस में पैरामीटर्स के सापेक्ष उस माह तक अच्छा प्रदर्शन करने वाले को पुरस्कृत किया जाएगा जबकि बेस्ट एचीवर में पैरामीटर्स के पहले माह के सापेक्ष उस माह में विशिष्ट प्रदर्शन करने वाले को पुरस्कृत किया जाएगा। साथ ही निकाय स्तर पर लंबित कार्यों के अनुसार टीम गठित करने के निर्देश दिये गये हैं। टीम को लक्ष्य देकर उसकी नियमित समीक्षा की जाएगी। परियोजनाओं के शत-प्रतिशत पूरा कराने पर फोकस किया जाएगा। अवार्ड के लिए जनपदों और निकायों को प्रेरित करने के लिए इन्हे तीन भागों में बांटा गया है।

Read more….योगी सरकार के निर्देश पर भीषण गर्मी के बीच प्रदेश में सुचारू रूप से की जा रही बिजली आपूर्ति

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button