राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

महदेइया विष्णु मंदिर में स्थापित है भगवान की अति प्राचीन मूर्ति

महराजगंज जनपद के पनियरा ब्लाक अंतर्गत महदेइया ग्राम में भगवान विष्णु का प्रसिद्ध मंदिर स्थित है। यह मंदिर न केवल धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि इसका अत्यधिक ऐतिहासिक महत्व भी है। इस मंदिर के परिसर में भगवान विष्णु की प्राचीन मूर्ति के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण मूर्तियां भी स्थापित हैं।

Table of Contents

महदेइया ग्राम में भगवान विष्णु मंदिर का महत्व

यह मंदिर महराजगंज जनपद के मुख्यालय से दक्षिण भिटौली कामता मार्ग पर स्थित है। इसकी अत्यधिक महत्ता इस बात की प्रमाणित करने में है कि यहॉं भगवान विष्णु की अति प्राचीन मूर्ति स्थापित है। इसके परिसर में स्थित तालाब से अन्य अनेक महत्वपूर्ण मूर्तियां भी प्राप्त हुई हैं। यहाँ की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहर को दर्शाता है कि लोग विशेष रूप से इस मंदिर की आराधना करते हैं।

भगवान विष्णु की प्राचीन मूर्ति की खोज

दस दशक पूर्व, महदेइया के ग्रामवासियों द्वारा एक पोखरे की खुदाई करते समय भगवान विष्णु की एक अति प्राचीन मूर्ति मिली थी। इस खोज ने ग्राम के ऐतिहासिक महत्व को और भी बढ़ा दिया।

मंदिर की स्थापना और प्राण प्रतिष्ठा

भगवान विष्णु की मूर्ति की प्राप्ति के बाद, बसंत पंचमी के शुभ दिन में ग्राम निवासी स्व0 शिवजपत सिंह ने इस मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा करवाई थी। इस ऐतिहासिक मेले की शुरुआत उन्हीं द्वारा हुई थी और उसके बाद उनके द्वारा बनाई गई मेला समिति ने मंदिर की देखरेख और जीर्णोद्धार का कार्य किया है। प्रत्येक वर्ष बसंत पंचमी के दिन मंदिर स्थापना के वार्षिकोत्सव के अवसर पर यहाँ एक विशाल मेला और दंगल का आयोजन होता है।

मेले की शुरुआत और महत्व

इस मेला समिति के तत्वाधान में प्रत्येक वर्ष बसंत पंचमी पर एक विशाल दंगल का भी आयोजन कराया जाता है। इस मेले में पूरे प्रदेश से प्रतिष्ठित पहलवान भाग लेते हैं और विजयी पहलवानों को पुरस्कृत किया जाता है। इस खेलकूद प्रतियोगिता ने स्थानीय प्रतिभाओं को मुख्य स्थान पर उत्तरदायित्ता दिलाई है और खेल की परंपरा को मजबूती से बनाए रखा है।

परंपरागत खेलकूद का महत्व

इस मेले में पहलवानों की अद्वितीय परंपरागत दक्षता दर्शाई जाती है जिसमें मुकाबले की रूचि रखने वाले लोग भाग लेते हैं। यहाँ पर पहलवानों की ताकत, स्थायिता और प्रतिभा की परीक्षा होती है और वे आपसी प्रतिस्पर्धा से उभर कर सामने आते हैं।

कृषक योगदान और आधुनिक तकनीकी प्रदर्शनी

इस मेले में क्षेत्रीय किसानों द्वारा खेती की नवीन तकनीकी एवं प्रयुक्त होने वाले आधुनिक यन्त्रों की जानकारी के प्रचार और प्रसार हेतु प्रदर्शनी का आयोजन किया जाता है। यह एक महत्वपूर्ण मंच होता है जहाँ किसान आपसी ज्ञान विनिमय करते हैं और आधुनिक तकनीकों का उपयोग कर अधिक फसल उत्पादन करने का तरीका सीखते हैं।

महदेइया ग्राम में स्थित भगवान विष्णु मंदिर और इसके ऐतिहासिक मेले ने लोगों के धार्मिक और सांस्कृतिक आदर्शों को बनाए रखने के साथ-साथ क्षेत्रीय खेलकूद प्रतिभा को भी प्रोत्साहित किया है। इस मंदिर की महत्वपूर्ण धरोहर को सुरक्षित रखने के लिए समर्पित मेला समिति का योगदान भी महत्वपूर्ण है।

प्रशिक्षित पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs):

भगवान विष्णु मंदिर के परिसर में कौनकौन सी मूर्तियां स्थापित हैं?

भगवान विष्णु की प्राचीन मूर्ति के साथ-साथ इस मंदिर में अन्य महत्वपूर्ण मूर्तियां भी स्थापित हैं।

मेले में कौनकौन सी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं?

मेले में प्रत्येक वर्ष दंगल आयोजित होता है, जिसमें पहलवानों की परंपरागत कुशलता का मुकाबला होता है।

महदेइया ग्राम मेला की समिति किस प्रकार के कार्य करती है?

महदेइया ग्राम मेला समिति मंदिर की देखरेख और जीर्णोद्धार कार्य करती है, साथ ही खेती की नवीन तकनीकों की प्रदर्शनी भी आयोजित करती है।

क्या महदेइया ग्राम मेला धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है?

हां, महदेइया ग्राम मेला महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक घटना है, जो भगवान विष्णु के मंदिर के प्रति लोगों की अटूट श्रद्धा को दर्शाता है।

क्या महदेइया ग्राम का मेला आधुनिक तकनीकों के प्रचार का एक महत्वपूर्ण मंच है?

हां, महदेइया ग्राम का मेला किसानों के लिए आधुनिक तकनीकों की प्रदर्शनी का एक महत्वपूर्ण मंच है, जो उन्हें उनकी खेती को और भी उत्कृष्ट बनाने का तरीका सिखाता है।

read more… महराजगंज जनपद के नौतनवा तहसील में ‘बनरसिया कला’ एक अद्भुत पौराणिक स्थल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button