Breaking Newsविज्ञान और तकनीक

Vikram Lander Soft landing again : चाँद पर एक बार फिर की चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर ने सॉफ्ट लैंडिंग, जानिए इसरो ने क्यों लिखा शुभ रात्रि विक्रम, आपने बहुत अच्छा काम किया

Vikram’ Lander Soft landing again : आज इसरो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर जानकारी देते हुए बताया की उन्होंने चंद्रयान-3 के ‘विक्रम’ लैंडर की एक बार फिर चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कराई हैं। उन्होंने बताया कि ‘विक्रम’ लैंडर अपने मिशन को पूरा करने की दिशा में और लगातार आगे बढ़ा हैं, जितनी हमें इससे उम्मीद थी ये उसमे सफलतापूर्वक खरा उतरा हैं।

इसरो ने दोबारा सॉफ्ट लैंडिंग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हमारी तरफ से कमांड दिए जाने पर ‘विक्रम’लैंडर ने इंजनों को ‘फायर’ किया, जिसके बाद वो अनुमान के मुताबिक करीब 40 सेंटीमीटर तक ऊपर उठा और आगे 30-40 सेंटीमीटर की दूरी पर सुरक्षित लैंड किया गया।

Vikram’ Lander Soft landing again करने का मुख्य कारण

चन्द्रमा पर दोबारा ‘सॉफ्ट लैंडिंग करने का मुख्य कारण भविष्य में ‘सैंपल’ वापसी और चंद्रमा पर मानव अभियान को लेकर आशाएं बढ़ाना था जो सफलता पूर्वक कामयाब हुआ हैं। जिससे ये भी पता चला कि विक्रम लैंडर की प्रणालियां अभी ठीक तरह से काम कर रही हैं। और वे ठीक ठाक हालत में हैं, आपको बता दे कि लैंडर में मौजूद रैम्प और उपकरणों को बंद किया गया और प्रयोग के बाद पुन: सफलतापूर्वक तैनात किया गया हैं।

इसरो ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट करते हुए कहा कि रोवर ने अपना कार्य पूरा कर लिया है, इसे अब सुरक्षित रूप से ‘पार्क’ (खड़ा) किया गया है और निष्क्रिय (स्लीप मोड) अवस्था में सेट किया गया है, क्योकि चंद्रमा पर अब रात होने के चलते ये सूर्य की रौशनी से अभी अपने आप चार्ज नहीं कर पायेगा, पहले एपीएक्सएस और एलआईबीएस ‘पेलोड’ बंद हैं। इन पेलोड से आंकड़े लैंडर के माध्यम से पृथ्वी पर प्रेषित किए जाते हैं। वर्तमान में रोवर की बैटरी भी पूरी तरह से चार्ज है और उसका सौर पैनल 22 सितंबर, 2023 को चंद्रमा पर अपेक्षित अगले सूर्योदय पर प्रकाश प्राप्त करने के लिए उन्मुख है।

भारत के चंद्र राजदूत के रूप में चाँद पर ही रहेगा चंद्रयान 3

आपको बता दे चंद्रयान 2 का रिसीवर चालू रखा गया है, क्योंकि इसरो को इसके दूसरे चरण के लिए इसके सफलतापूर्वक पुन: जागृत होने की आशा है, अन्यथा, यह हमेशा के लिए भारत के चंद्र राजदूत के रूप में चाँद पर ही रहेगा।

22 सितंबर को सूर्योदय होने पर जागेंगे

Vikram' Lander Soft landing again : चाँद पर एक बार फिर की विक्रम' लैंडर ने सॉफ्ट लैंडिंग, जानिए इसरो ने क्यों लिखा शुभ रात्रि विक्रम, आपने बहुत अच्छा काम किया
Vikram’ Lander Soft landing again : चाँद पर एक बार फिर की विक्रम’ लैंडर ने सॉफ्ट लैंडिंग, जानिए इसरो ने क्यों लिखा शुभ रात्रि विक्रम, आपने बहुत अच्छा काम किया

इसी बीच पर इसरो ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा शुभ रात्रि विक्रम, आपने बहुत अच्छा काम किया! 👋 विक्रम लैंडर को अपने सभी प्राथमिक मिशन उद्देश्यों को पूरा करने और *उसे पार* करने के बाद आज सुबह स्लीप मोड में डाल दिया गया। प्रज्ञान की तरह ही, विक्रम को चंद्र रात्रि में जीवित रहने का सर्वोत्तम मौका देने के लिए ऐसा किया गया था। ❄️ आइए हम सभी आशा करें कि वे दोनों 22 सितंबर को सूर्योदय होने पर जागेंगे और चंद्रमा के इस अज्ञात क्षेत्र का पता लगाना जारी रखेंगे! #चंद्रयान3 #इसरो🌙

चंद्रयान 3 ने चाँद पर पहुंचते ही की कई महत्वपूर्ण खोज

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के ऐतिहासिक मून मिशन चंद्रयान 3 के चाँद पर पहुंचते ही कई महत्वपूर्ण खोज की है और पुष्टि की है कि चंद्रमा की दक्षिणी ध्रुव के करीब की सतह पर सल्फर, एल्युमिनियम, कैल्शियम, आयरन, क्रोमियम, टाइटेनियम, मैंगनीज, ऑक्सीजन और सिलिकॉन की मौजूदगी की पुष्टि की गई है। इसरो ने उन तत्वों की मौजूदगी की एक चार्ट जारी की है जिसमें उनकी प्रस्तुति विभिन्न रेंजों में किए गए है जो तरंगाओं के समर्पण के समान हैं।

read more… आदित्य-एल1 मिशन: ‘आदित्य एल-1’ के साथ पुणेकर के वैज्ञानिक के उपकरण ने भी भरी उड़ान, 3 महीने बाद आया संदेश

msn

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button