सेहत और स्वास्थ्य

वेस्ट नाइल वायरस

वेस्ट नाइल वायरस क्या है?

वेस्ट नाइल वायरस वह वायरस है जिसे संक्रमित मच्छर के काटने से लोगों में फैल सकता है। इसका प्रसार मच्छरों के काटने से होता है, और मच्छरों के काटने से बचाव ही इसका सबसे महत्वपूर्ण उपाय है।

वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण के लक्षण क्या हैं?

– बुखार
– सिरदर्द
– शरीर में दर्द
– जोड़ों का दर्द
– उल्टी या दस्त
– त्वचा पर लाल चकत्ते

कुछ मामूल्यांकनों के अनुसार, कुछ लोगों में यह गंभीर समस्याएँ उत्पन्न कर सकता है जैसे कि एन्सेफलाइटिस या मेनिनजाइटिस। इन स्थितियों में, लक्षण भारी हो सकते हैं जैसे कि:

– तेज़ बुखार
– गंभीर सिरदर्द
– कठिनाई में गर्दन
– भ्रमित या भटकाव
– उच्चतम स्तर पर बुखार
– पक्षाघात
– गहरी बेहोशी

यह संक्रमण खासकर बूढ़े और पहले से बीमार व्यक्तियों में जीवन की खतरे को बढ़ा सकता है।

वेस्ट नाइल वायरस का प्रसार कैसे होता है?

वेस्ट नाइल वायरस मच्छरों को काटने से संक्रमित हो जाता है। यह  लोगों और जानवरों में फैल सकता हैं। यह महत्वपूर्ण है कि अमेरिका में एक ही प्रकार का मच्छर (175 प्रकारों में से) वेस्ट नाइल वायरस को फैला सकता है। ये संक्रमण व्यक्ति से व्यक्ति में को नहीं फैल सकता है।

वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण का निदान कैसे किया जाता है?

यदि किसी में वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं, तो डॉक्टर निम्नलिखित प्रश्न पूछते हैं:

– क्या व्यक्ति वहाँ रहता है जहाँ संक्रमित मच्छर पाए गए हों?
– क्या मौसम उन लक्षणों के लिए सहायक हो सकता है, क्योंकि गर्मियों में मच्छर अधिक सक्रिय होते हैं?

डॉक्टर संक्रमण की जांच के लिए रक्त परीक्षण के लिए भेज सकते हैं। एन्सेफलाइटिस या मेनिनजाइटिस के लक्षणों वाले व्यक्ति का स्पाइनल टैप भी किया जा सकता है।

वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण का उपचार कैसे किया जाता है?

अधिकांश मामलों में, वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण अपने आप में ठीक हो जाता है। मामूली दर्द को कम करने के लिए एसिटामिनोफेन या इबुप्रोफेन का सेवन किया जा सकता है।

गंभीर लक्षणों वाले मामलों में, आईवी तरल पदार्थ, सांस लेने में सहायता और अन्य उपचारों की आवश्यकता हो सकती है। वेस्ट नाइल एन्सेफलाइटिस या मेनिनजाइटिस के लिए कोई विशेष दवा नहीं है, और वर्तमान में इसका कोई टीका उपलब्ध नहीं है।

वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण को कैसे रोका जा सकता है?

वेस्ट नाइल वायरस से बचाव के लिए सबसे अच्छा तरीका मच्छरों के काटने से बचना है। इसके लिए आप निम्नलिखित सावधानियों का पालन कर सकते हैं:

– दरवाज़ों और खिड़कियों पर स्क्रीन का इस्तेमाल करें और टूटी हुई स्क्रीन की तुरंत मरम्मत करें।
– बिना स्क्रीन वाले दरवाजे और खिड़कियाँ बंद रखें।
– बाहर जाते समय लंबी बाजूवाली वस्त्र, लंबी पैंट, जूते और मोज़े पहनें।
– विकर्षक कीटनाशक का प्रयोग करें जैसे कि DEET या पिकारिडिन, और बच्चों के लिए नींबू नीलगिरी के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं।
– मच्छरों के पनपने की जगह नहीं दें, और बाल्टियों, कूड़ेदानों और टायरों को खाली और साफ रखें।
– सप्ताह में कम से कम एक बार पक्षियों के स्नानघर, कुत्तों के कटोरे और फूलों के गमलों को खाली और साफ करें।

इसके अलावा, अगर आपके क्षेत्र में वेस्ट नाइल वायरस संक्रमण के मामले मिलते हैं, तो स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों से संपर्क करके उपयुक्त कदम उठाएं।”

read more…लेमन टी को सेहत के लिए खराब क्यों माना जाता है?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button