Appkikhabar Banner29042021

जानते है कैसे भारत और रूस ने मिलकर चीन को दिया ज़ोर का झटका

जानते है कैसे भारत और रूस ने मिलकर चीन को दिया ज़ोर का झटका

चीन भारत से परेशान है औऱ भारत हैं कि मानता नही, भारत ने चीन को जोर का झटका जोरो से लगा कि तर्ज पर रूस से टेंट खरीदे है, जो रूस साइबेरिया में इस्तेमाल करता है, ये टेंट -50 डिग्री तापमान में भी अंदर से गर्मी का अहसास देते हैं। लद्दाख में सर्दियों में तापमान में भारी गिरावट को देखते हुए भारतीय सेना ने यहां तैनात हजारों सैनिकों के लिए आधुनिक आवास की व्यवस्था की है। इस मामले से जुड़े अधिकारियों ने यह जानकारी दी। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन के किसी भी दुस्साहस को रोकने के लिए हजारों सैनिक तैनात हैं और मई से ही पोजीशन संभालने हुए हैं।

भारतीय सैनिक जिन इलाकों में तैनात हैं उनमें से कुछ जगहों पर तापमान -40 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है। इन आवासों पर बिजली, पानी, हिटिंग फैसिलिटी, हेल्थ और हाइजीन का अच्छा ध्यान रखा गया है। सैनिकों को किसी चीज का अभाव नहीं है और वे किसी भी चुनौती के लिए तैयार हैं।

बुधवार को एलओसी से कुछ तस्वीरें मिली हैं, जिनमें सेना की ओर से बनाए गए इन्फ्रास्ट्रक्चर दिख रहे हैं। इन्हें अंग्रिम पंक्ति में तैनात सैनिकों की मदद के लिए बनाए गए हैं। सीमा पर तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन में सैन्य कमांडर्स स्तर की कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन जमीन पर अभी कोई बदलाव नहीं आया है। भारत  ने अमेरिका से 15 हजार से अधिक एक्सटेंडेंट वेदर क्लोदिंग सिस्टम आयात किए हैं।


    Share this story