इस देश में पुलिसकर्मियों की फोटो प्रकाशित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकेगी

Medhaj News 18 Nov 20 , 10:32:40 World Viewed : 429 Times
France.png

फ्रांस (France) की सरकार पुलिस को सशक्त बनाने के उद्देश्य से एक कानून लेकर आ रही है | इस कानून के अमल में आने के बाद पुलिसकर्मियों को नुकसान पहुंचाने के इरादे से उनकी फोटो प्रकाशित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकेगी | सरकार ने बिल का मसौदा संसद में पेश किया है, जिस पर मंगलवार को बहस हुई | वहीं, मानवाधिकार संगठनों ने इस बिल पर आपत्ति जताई है | उनका कहना है कि इससे न केवल प्रेस की स्वतंत्रता प्रभावित होगी, बल्कि बेवजह लोगों को प्रताड़ित करने का खतरा भी बना रहेगा | जबकि सरकार का कहना है कि बिल का उद्देश्य केवल पुलिस अधिकारियों के खिलाफ होने वाली हिंसा को रोकना है | राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) की सरकार के इस प्रस्तावित कानून में दोषियों को एक साल की जेल और 45,000 यूरो (53,000 डॉलर) के जुर्माने पर प्रावधान है | बता दें कि नेशनल असेंबली में मैक्रों की पार्टी को बहुमत प्राप्त है, लिहाजा माना जा रहा है कि विरोध के बावजूद बिल पारित हो जाएगा | 

प्रस्तावित कानून में कहा गया है कि शारीरिक या मनोवैज्ञानिक रूप से नुकसान पहुंचाने के इरादे से पुलिसकर्मियों की फोटो प्रकाशित करना अपराध माना जाएगा | फिर भले ही इसके लिए किसी भी मीडिया का इस्तेमाल क्यों न किया गया हो | फ्रांस के आंतरिक मंत्री गेराल्ड डार्मैनिन (Gerald Darmanin) ने बिल का समर्थन करते हुए कहा कि इस तरह के कानून का अस्तित्व में आना बेहद जरूरी है | गेराल्ड ने कहा - पहचान उजागर होने के बाद पुलिसकर्मियों को लगातार धमकी मिलती हैं | यहां तक कि महिला अधिकारियों को बलात्कार की धमकी दी जाती हैं | उन्हें तरह-तरह से परेशान किया जाता है | इसलिए यह कानून बेहद जरूरी है | हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि मीडिया को किसी तरह से डरने की जरूरत नहीं है | मंत्री ने कहा कि पत्रकार पहले की तरह पुलिस इंटरवेंशन को फिल्मा सकते हैं | फ्रांस की मानवाधिकार लोकपाल क्लेयर हेडन (Claire Hedon) ने कहा कि इस बिल में प्रेस स्वतंत्रता सहित मौलिक अधिकारों को कम करने के जोखिम शामिल हैं | उन्होंने कहा कि पुलिस इंटरवेंशन से संबंधित चित्रों का प्रकाशन लोकतांत्रिक कार्यप्रणाली के लिए वैध और आवश्यक है | वहीं, पत्रकार यूनियनों ने भी इस विधेयक का विरोध किया है |   


    3
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      18-11-2020 21:07:08

    • Good

      Commented by :Vijay
      18-11-2020 17:56:28

    • Ok

      Commented by :Sushil Kumar Gautam
      18-11-2020 17:44:39

    • Good

      Commented by :Saddam husain
      18-11-2020 17:43:33

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story