WHO ने कहा भारत कोरोना वायरस को पोलियो और स्माल पॉक्स की ही तरह कर सकता है ख़त्म

Medhaj News 24 Mar 20 , 11:30:54 World Viewed : 1481 Times
WHO_990x651.jpg

Covid-19 तेजी से फैल रहा है, भारत में एक ही दिन में 100 से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं जिससे साफ पता लगता है कि आपकी छोटी सी नादानी कितने लोगों की जिंदगी खतरे में डाल रही है। लॉकडाउन का पालन ना करने का खामियाजा आपके साथ ही आपका परिवार और रिश्तेदार भी भुगतेंगे। अपनी इसी गलती का नतीजा इटली के लोग भुगत रहे हैं जहां अब तक 6000 से ज्यादा मौते हो चुकी हैं। लोगों को दफनाने के लिए जगह खत्म हो गई है और मौत के बाद लोग अपनों का चेहरा तक नहीं देख पा रहे हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सोमवार को स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी कि कोविड-19 महामारी के प्रसार में तेजी आ रही है। हालांकि, अभी भी इसकी ट्रेजेक्टरी (बढ़ने की रफ्तार) को बदलना संभव है। साथ ही डब्ल्यूएचओ ने इस महामारी को रोकने के लिए उठाए जा रहे भारत सरकार के कदमों की सराहना की है। WHO ने कहा है कि पोलियो की तरह भारत इसे भी खत्म कर सकता है।

WHO के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने न्यूज ब्रीफिंग में कहा कि कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद उसका आंकड़ा एक लाख तक पहुंचने में 67 दिन लगे। जबकि एक लाख से बढ़कर दो लाख पहुंचने में 11 दिन और दो लाख से तीन लाख तक पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे। इसका मतलब है कि सिर्फ चार दिनों में इसने 1 लाख लोगों को संक्रमित किया है। लेकिन हम असहाय नहीं हैं। हम अभी भी इस महामारी के बढ़ने की रफ्तार काबू कर सकते हैं।

इस महामारी से निपटने के भारत के प्रयासों की सराहना करते हुए डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के क्षेत्रीय आपात निदेशक डॉ. रोड्रिको ऑफ्रिन ने एक बयान जारी कर कहा कि कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए भारत व्यापक और मजूबत कदम उठा रहा है। क्वारंटाइन और सोशल डिस्टेंसिंग से संबंधित उसकी ताजा घोषणाओं में प्रभावित जिलों में लॉकडाउन और रेल, अंतरराज्यीय बस व मेट्रो सेवाओं का स्थगन शामिल है। इन कदमों से वायरस का संक्रमण धीमा करने में मदद मिलेगी।

"कोविड-19 के अभी तक हवा में फैलने की रिपोर्ट नहीं"

WHO की दक्षिण-पूर्व एशिया की प्रमुख डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के अभी तक हवा में फैलने की रिपोर्ट नहीं है। सोशल मीडिया पर इस तरह की अफवाहों के फैलने के मद्देनजर उनका यह बयान आया है। डॉ. पूनम ने कहा, कोविड-19 के हवा में फैलने की रिपोर्ट नहीं है। अभी तक प्राप्त सूचना के आधार पर कोविड-19 अधिकांशतः सांसों के साथ निकलने वाली छोटी बूंदों (जैसे कोई बीमार व्यक्ति जब छींकता है तो उससे निकलने वाली छोटी बूंदें) और नजदीकी संपर्क से फैलता है। इसलिए डब्ल्यूएचओ हाथ और श्वसन स्वच्छता की अनुशंसा करता है।


    0
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story