advy_govt

बेरूत धमाके में अपनों को खोने वाली बच्चियों के चेहरे पर मुस्कान लाने की अनोखी पहल

Medhaj News 29 Nov 20 , 15:55:09 World Viewed : 2508 Times
dolls.png

लेबनान की राजधानी बेरुत के लिए बीता 4 अगस्त एक विनाशकारी दिन था क्योंकि बड़े पैमाने पर हुए विस्फोट ने लेबनान की राजधानी को हिला कर रख दिया था | चारों तरफ भीषण तबाही मची थी और धमाके में सैकड़ों लोगों ने अपनी जान गंवाई जबकि कई लोग घायल हुए थे | अब एक बुजुर्ग महिला, योलांडे लाबाकी ने विस्फोट के दौरान अपनों को खोने वाली लड़कियों के लिए गुड़िया बनाकर बेरुत में बच्चों के बीच मुस्कान लाने का फैसला किया है | योलांडे लाबाकी एक कलाकार हैं, विस्फोट के बाद से, 5 अगस्त से, योलांडे सुबह जल्दी उठती हैं और गुड़िया बनाना शुरू कर देती हैं | अब तक, वह 77 गुड़िया बना चुकी हैं, और अभी 23 और पूरे करने हैं | हर गुड़िया को उस लड़की का नाम दिया जाएगा जिसने अपने परिजनों और रिश्तेदारों को खोया है | 

अकरम नेहमे ने फेसबुक पर एक पोस्ट में योलंडे की कहानी को साझा किया है | फ्रांसीसी से अंग्रेजी में अनुवादित, पोस्ट में कहा गया है - धमाके में मारे गए लोगों को मरहम लगाने की योलांडे लाबाकी द्वारा एक पहल | 4 अगस्त, 2020 हमेशा के लिए नुकसान का पर्याय बन जाएगा | बच्चों की जान, माल की हानि हुई |  उन्होंने अपने खिलौनों को आग में जलते हुए देखा | दादी और जानी-मानी प्रतिभाशाली कलाकार, योलांडे लाबाकी, अपनी 100 से ज्यादा गुड़िया लड़कियों को देने के लिए शानदार काम कर रही हैं | 5 अगस्त के बाद वो हर सुबह जल्दी उठती हैं और अपना काम शुरू कर देती है | वह अपनी 78वीं गुड़िया पर काम कर रही हैं | उनमें से प्रत्येक को उस लड़की का नाम दिया जिनके परिजनों की मौत हुई है | अगस्त में बेरूत शहर के बंदरगाह क्षेत्र में दो विस्फोट हुए थे | कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि विस्फोट "पुरानी विस्फोटक सामग्री" के कारण हो सकता है | कई लोगों ने यह भी कहा कि विस्फोट की जगह वह क्षेत्र था जहां आतिशबाजी के लिए बारूद का भंडारण किया गया था | 



 


    0
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    advt_govt

    Trends

    Special Story