कांवड़ यात्रा के दौरान बसों का सुरक्षित संचालन सुनिश्चित करेगी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने आगामी श्रावण मास को लेकर अभी से तैयारियों को पुख्ता करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 4 जुलाई से प्रारंभ होकर इस बार लगभग 2 महीने तक चलने वाले श्रावण के पवित्र माह में आमतौर पर पूरे प्रदेश में ही कांवड़ यात्रियों व तीर्थयात्रियों के आवागमन में भारी वृद्धि दर्ज की जाती है। ऐसे में, सीएम योगी की मंशा के अनुरूप श्रावण मास में कांवड़ यात्रा के मद्देनजर निगम बसों के सुरक्षित संचालन के सम्बंध में परिवहन निगम के अधिकारियों को व्यापक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह ने परिवहन निगम को कांवड़ियों व तीर्थ यात्रियों के आवागमन के लिए आवश्यकतानुसार बसों की संख्या को निगमित करने के निर्देश दिए हैं।

24 घंटे संचालित होंगे कन्ट्रोल रूम

परिवहन निगम के सभी क्षेत्रीय अधिकारियों को क्षेत्रीय मुख्यालय पर कन्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं और कहा गया है कि यात्रा प्रारम्भ होने से समाप्त होने तक कन्ट्रोल रूम 24 घंटे क्रियाशील रहेगा तथा कन्ट्रोल रूम पंजिका मेनेटेन की जायेगी। सभी क्षेत्रीय प्रबंधक/सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक, सेवा प्रबंधक सम्बंधित मण्डलायुक्त व जिलाधिकारियों द्वारा दिए निर्देशों के अनुसार कार्ययोजना बनाकर जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित करते हुए इन कार्यों को सुनिश्चित किया जाए।

अव्यवस्था की न रहे गुंजाइश

श्रावण मास में आगरा, बरेली, मेरठ, मुरादाबाद, गाजियाबाद, अलीगढ़ व सहारनपुर क्षेत्र के मार्ग कांवड़ यात्रियों से आच्छादित रहते हैं। इसलिए, संबंधित मार्गों पर जिला प्रशासन द्वारा जारी रूट डायवर्जन प्लान सभी क्षेत्रीय/सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को मुख्यालय से प्रेषित किए जाने और फोन से भी सूचित कराने की योजना है। निर्धारित डायवर्जन वैकल्पिक मार्ग पर ही बसों का संचालन सुनिश्चित किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, सभी क्षेत्रीय/सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक संचालित होने वाली बसों के क्रू को काउंसिलिंग करके जानकारी देने, निर्धारित मार्गों पर ही बसों का संचालन होने और किसी प्रकार की अव्यवस्था होने पर क्रू के विरूद्ध कार्रवाई भी सुनिश्चित किए जाने को लेकर कार्ययोजना व प्रक्रिया निर्धारित कर की गई है।

साफ-सफाई पर विशेष ध्यान

दयाशंकर सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि कांवड़ यात्रा के प्रारम्भ में हरिद्वार के लिए तीर्थयात्री अधिक संख्या में यात्रा करते हैं। ऐसे में, हरिद्वार मार्ग पर अतिरिक्त बसों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी जिससे कि कांवड़ यात्रियों को किसी प्रकार की आवागमन में असुविधा न हो। साथ ही लखनऊ, अयोध्या, गोरखपुर से वाराणसी व प्रयागराज रूट पर भी यात्री अधिक संख्या में यात्रा करते हैं। ऐसे में, इन मार्गों पर भी बसों के सुचारू व पर्याप्त संचालन की व्यवस्था को सम्बंधित क्षेत्रीय प्रबंधक सुनिश्चित करेंगे। सीएम योगी की मंशा के अनुरूप, उन्होंने स्टेशनों पर पेयजल, शौचालय की व्यवस्था के साथ-साथ उचित साफ-सफाई रखने के भी निर्देश दिए हैं। बसों के अंदर भी साफ-सफाई की व्यवस्था उत्तम रहे इस बात को सुनिश्चित करने के लिए भी कार्ययोजना के अनुरूप प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं।

Exit mobile version